अशोकनगर । जिले की दोनो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों के भाग्य का फैंसला मंगलवार को मतदाताओं द्वारा जीत का ताज पहनाकर कर दिया है। जिले की दो विधानसभाओ में हुए उपचुनावों में भाजपा को करारी शिकस्त मिली है। 
अशोकनगर विधानसभा से भाजपा के प्रत्याशी जजपाल सिंह जज्जी विजय हुए हैं उन्होने कांग्रेस की महिला उम्मीदवार आशा दोहरे को भारी मतों 14630 बोटों से हराकर विजय प्राप्त की है। वहीं मुंगावली से भाजपा के ब्रजेन्द्र सिंह यादव ने कांग्रेस के कन्हैराम लोधी को 21469 मतो से हराकर जीत हांसिल की है। मंगलवार को परीणामों के आने के बाद लोगों का इन्तजार खत्म हो गया है। 3 नबम्वर को मतदान के बाद से प्रत्याशियों की नीदें उड़ी हुई थी। नतीजे आते ही हारने वाले प्रत्याशियों के चेहरों पर उदासी देखी गई। वहीं जीते हुए प्रत्याशियों के साथ कार्यकर्ताओं के चेहरों पर उत्साह अलग ही देखा जा रहा था। अशोकनगर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी जजपालसिंह जज्जी 78479, कांग्रेस से आशा दोहरे 63849, बसपा से स्ट्रोम विलिन टी.आर भण्डारी 3373, सुन्दरलाल खटीक 368, आलोग 124, किसना अहिरवार 154, कोमल प्रसाद शाक्य 257, बुन्देल सिंह 423, मनोज कुमश भैयाजी 926 एवं नोटा 1482 कुल मत प्राप्त हुए। इसी प्रकार मुंगावली विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी बृजेन्द्र सिंह यादव को 83153, कांग्रेस के कन्हईराम लोधी 61684, बसपा से डॉ. बीरेन्द्र शर्मा को 2474, जितेन्द्र सिंह 176, देवेन्द्र सिंह लोधी 169, भरत सिंह यादव, 124, ओमप्रकाश 80, गेंदराज 69, बलराम 80, भान सिंह 117, शत्रुधन लोधी 136, सावित्री लोधी 268, श्रेयांश जैन 779 एवं नोट को 1330 कुल मत प्राप्त हुए। 
-जीत का मनाया जश्र निकला विजय जुलूस:
विधानसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत पर जिलेभर में भाजपा कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल बना हुआ है। भाजपाइयों ने इसे विकास की जीत बताया। मतगणना में भाजपा की जीत को लेकर कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है। अशोकनगर सीट पर भाजपा प्रत्याशी जजपाल सिंह जज्जी तथा मुंगावली से बृजेंद्र सिंह यादव की  जीत पर एक दूसरों को मिठाई खिलाकर शुभकामनाएं दी तथा पटाखे चलाकर खुशी जाहिर की। कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को बधाई दी। विधानसभा नतीजों के बाद दोनो विजयी प्रत्याशियों ने अपने-अपने समर्थकों के साथ जश्र मनाया। वहीं प्रत्याशियों के समर्थक व पार्टी कार्यकर्ताओं ने अंतिम नतीजे आने से पहले ही जश्र मनाया और आतिशबाजी करना शुरु कर दिया था। नगर में भाजपा समर्थकों ने अपने प्रत्याशी की जीत निश्चित होते ही चन्देरी रोड़, वायपास रोड़ पर जमकर आतिशबाजी चलाई। वहीं नतीजों के बाद भाजपा प्रत्याशी के साथ जुलूस भी निकाला। प्रत्याशियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में पहुंचकर कार्यकर्ताओं व मतदाताओं के बीच खुशी मनाई।
-बालाजी सरकार का आर्शीवाद लेकर पहुंचे मतगणना स्थल: 
मंगलवार सुबह मतगणना शुरु होने से पहले भाजपा प्रत्याशी जजपाल सिंह जज्जीअपने आराध्य श्री तारवाले बालाजी के मंदिर पर दर्शन करने पहुंचे। जहां उन्होने श्री तारवाले बालाजी के चरणो में मत्था टेक विजयश्री का आर्शीवाद लिया और फिर मतगणना स्थल के लिये रवाना हो गए। 
-पहले ही चरण से बनाई बढ़त:
अशोकनगर विधानसभा क्षेत्र के लिए 22 राउंडों में हुई मतगणना में भाजपा के जजपाल सिंह जज्जी का पलड़ा शुरु से ही भारी रहा। शुरूआती दौर में जब अशोकनगर विधानसभा के शाढ़ौरा क्षेत्र की पोलिंगों के नतीजे भाजपा के पक्ष में आते दिखे, तो नेताओं एवं उनके समर्थक अशोकनगर शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र से बड़ी जीत होने का अनुमान लगाते नजर आए। लेकिन अशोकनगर के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में भाजपा को कोई खास करश्मिा करती नजर नहीं आई। प्रथम चरण में श्री जज्जी 861 वोटो से आगे रहे, दूसरे चरण में यह आंकड़ा 1790 पर पहुंच गया तीसरे चरण में 1586 और चौथे चरण में यहां आंकड़ा 5 हजार से पार पहुंच गया, जो बढ़ते-बढ़ते अंतिम चरण तक 14630 पर जा पहुंचा। 
-42 टेबिलों पर 168 कर्मचारियों ने की गणना: 
मंगलवार को जिले की अशोकनगर व मुंगावली विधानसभा सीटों के लिए सुबह 8 बजे से मतगणना शुरु हुई। सबसे पहले डाक मत पत्रों एवं सेवा मतदाताओं द्वारा भेजे गए मतों की गिनती की गई। इसके आधा घंटे बाद ईवीएम (इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन) के वोटों की गिनती शुरू हुई। मतों की गिनती के लिए प्रति विधानसभा 14 टेबिलें लगाई गई थीं। प्रत्येक टेबिल पर चार गणना कर्मचारियों ने मतों की गिनती की। अशोकनगर विधानसभा में और मुंगावली में 22 चरणो में मतगणना कार्य सम्पन्न हुआ। प्रत्येक राउण्ड के बाद नतीजों की घोषणा लाउड स्पीकर पर की गई। इस दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी, सभी विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारी, भारत निर्वाचन आयोग के प्रेक्षक, मतगणना सुपरवाइजर, सहायक एवं माइक्रो आब्जर्वर उपस्थित रहे। वहीं दोनो विधानसभाओं के प्रत्येक प्रत्याशी भी उपस्थित रहे। अंतिम परिणाम देर शाम घोषित किया गया। मतगणना स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई थी। साथ ही मतगणना स्थल पर जाने वाले लोगों की परिसर के गेट से लेकर मतगणना कक्ष तक तीन बार चैकिंग की गई। किसी भी अप्रीय घटना से निवटने के लिए दमकल व एंबुलेंस के साथ मेडिकल टीम तैनात रही।