नई दिल्ली/पटना, बिहार में विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं और अब सभी को 10 नवंबर को होने वाली मतगणना का इंतजार है, लेकिन चुनाव बाद हुए एग्जिट पोल सर्वे में महागठबंधन को बड़ी जीत मिलती दिखाई दे रही है. महागठबंधन में शामिल कांग्रेस भी एग्जिट पोल सर्वे पर गदगद दिखाई दे रही है और अभी से एक्टिव हो गई है.ज्यादातर एग्जिट पोल सर्वे में महागठबंधन को पूर्ण बहुमत का दावा किया गया है. इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला और अविनाश पांडे को बिहार का आब्जर्वर बनाया और दोनों नेता आज रविवार शाम पटना पहुंच रहे हैं.कांग्रेस के इन दोनों नेताओं की राज्य में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद के घटनाक्रम पर केंद्रीय नेतृत्व और गठबंधन के साथी दलों के बीच समन्वय की जिम्मेदारी रहेगी. इस बीच पटना स्थित कांग्रेस दफ्तर में समन्वय समिति की बैठक चल रही है जिसमें पार्टी की बिहार यूनिट के तमाम सचिव, लोकल इंचार्ज और पदाधिकारी शामिल हैं. पार्टी में अंदरूनी समीक्षा बैठक चल रही है. आगे की रणनीति क्या होगी इसको लेकर भी विचार-विमर्श हो रहा है.

जीत को लेकर हम आश्वस्त थेः मदन मोहन झा 
दूसरी ओर, एग्जिट पोल सर्वे पर मिल रही बड़ी जीत और नतीजे से पहले ही पटना आ रहे कांग्रेस के पर्यवेक्षकों के बारे में बिहार प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि एग्जिट पोल सर्वे से पहले ही हम आश्वस्त थे और यह स्पष्ट था कि जनता हमें जनादेश देने के लिए तैयार थी.उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान हमारे पर्यवेक्षक यहां थे और इसलिए वे यहां की स्थिति के बारे में जानते हैं. आम तौर पर, पर्यवेक्षक उन राज्यों में जाते हैं जहां चुनाव होते हैं, इसलिए यह एक नियमित प्रक्रिया है.परिणाम आने से पहले ही पर्यवेक्षकों के पटना पहुंचने को लेकर मदन मोहन झा ने कहा कि हमें किसी तरह का संदेह नहीं है कि हमारे विधायक दूसरे कैंप में चले जाएंगे. सभी पार्टी के साथ हैं जिन्होंने पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा है.

क्या कहता है सर्वे
बिहार में 3 चरणों में चुनाव कराए गए. कल शनिवार को इंडिया-टुडे-एक्सिस माय इंडिया एग्जिट पोल के अनुमानों के मुताबिक महागठबंधन को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा है. एग्जिट पोल सर्वे के मुताबिक तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले गठबंधन को 243 सदस्यीय विधानसभा में 139 से 161 सीटें मिलती दिख रही हैं.