नई दिल्ली: एक स्वस्थ शरीर और दिमाग को पौष्टिक आहार की जरूरत होती है. ऐसा आहार जो कि प्रोटीन (Protein), विटामिन (Vitamin), फैट्स (Fat), कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates), आयरन (Iron) जैसे अन्य पोषक तत्वों से भरपूर हो. यदि आहार में एक भी पोषक तत्व की कमी रह जाती है तो स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. विटामिन कई कारणों से बेहद महत्वपूर्ण हैं और ऐसे में इस कमी के संकेत देता है हमारा शरीर. आप इन संकेतों के जरिए अपनी डाइट में बदलाव कर नुकसान से बच सकते हैं और शरीर को स्वस्थ बना सकते हैं. आइये जानते हैं शरीर में विटामिन और मिनरल की कमी से मिलने वाले संकेतों को.

बालों और नाखून का टूटना
कई कारणों से बाल और नाखून टूटते हैं जिनमें एक कारण बायोटिन की कमी भी है. बायोटिन, जिसे विटामिन बी 7 के रूप में भी जाना जाता है, शरीर को भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है. बायोटिन की कमी बाल टूटे और पतले होते हैं और नाखून भी टूटना शुरू हो जाते हैं. इस संकेत से आप विटामिन की कमी को साफ समझ सकते हैं. इसके अलावा बायोटिन की कमी के अन्य लक्षणों में थकान, मांसपेशियों में दर्द, ऐंठन और हाथों और पैरों में झुनझुनी शामिल हैं.

मुंह के छालें और होंठों के कोनों पर दरारें
यह भी विटामिन की कमी के संकेत हैं. मुंह के छाले और होंठों के किनारों पर दरारें विशेष रूप से विटामिन बी की कमी से आती हैं. इसके अलावा यह आयरन की कमी का संकेत भी है. हरी पत्तेदार सब्जियां, मांस, मछली, नट्स, साबुत अनाज आदि का सेवन करें.

मसूड़ों से खून बहना
यह विटामिन सी की कमी का संकेत होता है. विटामिन सी शरीर में घाव भरने, इम्युनिटी बढ़ाने में महत्वपूर्ण रोल निभाता है. यह एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करके सेल डैमेज को भी रोकता है. शरीर में विटामिन सी का निर्माण खुद से नहीं होता है, इसे यह आपकी डाइट के माध्यम से ही मिल सकता है. विटामिन सी की शरीर में कमी ना हो इसके लिए आपको डाइट में ताजे फल और सब्जियां जरूर लेनी चाहिए. कई लोग डाइट में फल और सब्जियां ना लेकर जंक फूड खाते हैं जिससे विटामिन सी की कमी हो जाती है.

आंखों की समस्या
आहार जिसमें पोषक तत्वों की कमी हो तो वह आंखों की समस्याओं को जन्म देता है. इनकी कमी से दृष्टि संबंधित परेशानियां होती है. जैसे विटामिन ए को अक्सर उस स्थिति से जोड़ा जाता है जिसे नाइट ब्लाइंडनेस (रतौंधी) कहते हैं. इसमें लोगों की कम रोशनी या अंधेरे में देखने की क्षमता घट जाती है.

बालों का झड़ना
यह बेहद आम संकेत है. 50 साल की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते 50% वयस्कों के ज्यादातर बाल झड़ जाते हैं. इस समस्या को डाइट में निम्न पोषक तत्वों को शामिल करके काफी हद तक काबू में किया जा सकता है.