नई दिल्ली  | पूर्वी दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार गौतम गंभीर को चुनाव आयोग ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। गंभीर को यह नोटिस एक समाचार पत्र में उनकी तस्वीर वाले विज्ञापन छापने पर दिया गया है, जिसे आयोग ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन बताया है। पूर्वी दिल्ली निर्वाचन अधिकारी की तरफ से जारी नोटिस में कहा गया है कि मीडिया प्रमाणन व निगरानी समिति ने 26 अप्रैल को प्रकाशित इस विज्ञापन का संज्ञान लिया है, जिसमें क्रिकेट एप का प्रचार करते हुए उसमें गौतम गंभीर की तस्वीर ली गई है। नोटिस में कहा गया है कि विज्ञापन में इस खेल के विजेताओं को नकद इनाम दिए जाने का जिक्र है, जिसे देख कर ऐसा लग रहा है कि यह एक खास दल की तरफ से लड़ रहे उम्मीदवार के पक्ष में माहौल बना रहा है, जो आचार संहिता का उल्लंघन है। गौतम गंभीर नामांकन कराने के बाद से लगातार मुश्किल में हैं। पूर्वी दिल्ली से ‘आप' उम्मीदवार आतिशी ने गंभीर के पास दो मतदाता पहचान पत्र होने का आरोप लगाते हुए मामले की शिकायत अदालत में की है। 1 मई को सुनवाई है। जंगपरा विधानसभा में बिना अनुमति रैली आयोजित करने पर आयोग गंभीर के खिलाफ एफआईआर का आदेश दे चुका है। अब विज्ञापन को लेकर विवाद में है। पूर्वी दिल्ली निर्वाचन अधिकारी की तरफ से जारी कारण बताओ नोटिस में गौतम गंभीर को 2 मई तक जवाब देने का समय दिया है। गौतम गंभीर को पूर्वी दिल्ली की मीडिया प्रमाणन व निगरानी समित के समक्ष संबंधित दस्तावेज जमा करने होंगे। ऐसा नहीं करने पर गंभीर के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।