• दिल्ली-लुधियाना हाईवे पर दोराहा में फ्लाईओवर के पास बुधवार सुबह साढ़े 6 बजे हुआ हादसा
  • मृतक महिलाओं की पहचान मेरठ के गांव पावली खाट की 20 वर्षीय काजल और मुजफ्फरनगर के ननहेड़ा की 45 वर्षीय बाला के रूप में हुई
  • घायलों को दोराहा के सिद्धू अस्पताल, पायल के सिविल अस्पताल, लुधियाना डीएमसी अस्पताल और अन्य में भर्ती कराया गया

कस्बा दोराहा में बुधवार सुबह दिल्ली-लुधियाना हाईवे पर सड़क हादसे में तीन की मौत हो गई, जबकि 10 से ज्यादा लोग घायल हो गए। बताया जाता है कि मजदूरों को लेकर एक कैंटर उत्तर प्रदेश के मेरठ से मोगा जा रहा था। फ्लाईओवर के पास मुड़ने के लिए जैसे ही इसके चालक ने ब्रेक लगाई, पीछे से आ रहा ट्रक इसमें टकरा गया। दोनों वाहनों के सड़क पर पलट जाने के कारण कैंटर में सवार लोगों में से 2 महिलाओं ने मौके पर दम तोड़ दिया तो ट्रक के क्लीनर की मौत हो गई। घायलों को दोराहा के सिद्धू अस्पताल, पायल के सिविल अस्पताल, लुधियाना डीएमसी अस्पताल और अन्य में भर्ती कराया गया है।

हादसे के बाद घायलों की मदद के लिए पहुंचे स्थानीय लोग।
मृतकों में मजदूर महिलाओं की पहचान मेरठ के गांव पावली खाट की 20 वर्षीय काजल पुत्री मुकेश और मुजफ्फरनगर के ननहेड़ा की 45 वर्षीय बाला पत्नी राजेंद्र के रूप में हुई है। इस बारे में दोराहा थाने के एएसआई बरजिंदर सिंह ने बताया कि भट्टे की लेबर को लेकर एक कैंटर उत्तर प्रदेश के मेरठ से मोगा जा रहा था। दोराहा नजदीक गलती से मोगा (दक्षिणी बाईपास) को मुड़ने की बजाय सीधा हाईवे पर फ्लाईओवर चढ़ने लगा। इसके बाद एकदम ब्रेक लगा दिए जाने के कारण पीछे से आ रहे ट्रक की इससे टक्कर हो गई।
 
हाईवे पर पलटे वाहनों को हटाती क्रेन और बिखरा हादसे के शिकार मजदूरों का सामान।
बताया जाता है कि टक्कर के तुरंत बाद कैटर में सवार 15 के करीब सवारियां उछलकर हाईवे पर जा गिरी और एकदम चीख-पुकार मच गई। लोगों ने घायलों की मदद की, वहीं पुलिस भी तुरंत मौके पर पहुंच गई। इस दौरान ट्रक के क्लीनर और कैंटर में सवार दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दर्जनभर लोग घायल हो गए। ट्रक में पलाई भरी हुई थी, जिसे दिल्ली से अमृतसर ले जाया जा रहा था। ट्रक के क्लीनर सहारनपुर निवासी शकील की भी मौके पर मौत हुई है जबकि उसके सगे भाई चालक को काफी चोटें लगी हैं।

घायलों को दोराहा के सिद्धू अस्पताल, पायल के सिविल अस्पताल, लुधियाना डीएमसी अस्पताल और अन्य में भर्ती कराया गया है। इनमें से गंभीर रूप से घायल मुजफ्फरनगर के गांव लक्कड़संधा की 17 वर्षीय अंजू पुत्री पप्पू और 20 साल की संयोक्ती पुत्री श्याम सिंह लुधियाना के डीएमसी अस्पताल में दाखिल हैं। तीनों लाशों को पोस्टमॉर्टम के लिए लुधियाना सिविल अस्पताल में भिजवाने के बाद दोराहा पुलिस इस हादसे की गंभीरता के साथ जांच कर रही है।