लखनऊ. कोरोना काल (Corona Pandemic) के बाद पहले आम बजट (Budget 2021) को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने देश के समक्ष रखा. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने वर्तमान आम बजट लोक कल्याणकारी, सर्वसमावेशी तथा 'आत्मनिर्भर भारत' की मंशा के अनुरूप बताया है. सोमवार को सीएम योगी ने ट्वीट कर कर कहा, वर्तमान आम बजट लोक कल्याणकारी, सर्वसमावेशी तथा 'आत्मनिर्भर भारत' की मंशा के अनुरूप है. बजट में किसान, मध्य वर्ग, गरीब, महिलाओं समेत प्रत्येक वर्ग का ख्याल रखा गया है. यह अर्थव्यवस्था को गति देने एवं देश के हर नागरिक को आर्थिक रूप से सशक्त करने का कार्य करेगा.

संसद में बजट प्रक्रिया के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया है कि अगर एम्पलॉयर कर्मचारी का पीएफ योगदान (PF Contribution) देर से जमा करता है, तो उन्हें पीएम के मामले में छूट का लाभ नहीं मिलेगा. इस दौरान वित्त मंत्री ने आम कर्मचारी को होने वाली परेशानियों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा 'हमने पाया है कि कुछ नियोक्ता कर्मचारियों की सैलरी से ही प्रोविडेंट फंड और दूसरी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के नाम पर राशी काटते हैं.
लेकिन उसे समय पर जमा नहीं करते हैं.' एम्प्लॉयर की तरफ से होने वाली इस देरी पर सरकार का ध्यान गया है. उन्होंने कहा 'इसका मतलब होता है कर्मचारियों को ब्याज और कमाई का नुकसान.' उन्होंने कहा कि अगर एम्पलॉयर आगे काम करने में सफल नहीं हुआ, तो परेशानी कर्मचारी को उठानी पड़ती है.
उधर, समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने रविवार को ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर एक बार फिर तंज कसा. अखिलेश ने ट्वीट किया, "भाजपा सरकार से बस इतनी गुजारिश है कि वो इस बार बजट में देश की एकता, सामाजिक सौहार्द, किसान-मजदूर के सम्मान, महिला-युवा के मान और अभिव्यक्ति की आजादी की पुनर्स्थापना के लिए भी कुछ प्रावधान करे क्योंकि भाजपा की विघटनकारी नीतियों से ये सब बहुत खंडित हुआ है. देशहित मे जारी!"