भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शि​वराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने 10 दिनों के भीतर ही कोरोना (Corona) को मात दे दी है. सीएम शिवराज सिंह की कोरोना टेस्ट निगेटिव आई है. इसके बाद उन्हें राजधानी भोपाल के चिरायु अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. बीते 25 जुलाई को उनमें कोरोना वायरस के संक्रमण कोविड-19 (Covid-19) की पुष्टि हुई थी. इसके बाद से उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अब अस्पताल से छुट्टी के बाद उन्हें घर पर खुद को अलग करने और 7 दिनों के लिए अपने स्वास्थ्य की निगरानी करने की सलाह दी गई है.अस्पताल से छुट्टी के बाद सीएम शिवराज ने कहा कोरोना योद्धा को मेरा प्रणाम. मैं सभी मेडिकल स्टाफ को ह्रदय से धन्यवाद देता हूं. कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है. हमें लापरवाही नहीं करनी है. लापरवाही करने पर ये बीमारी जानलेवा हो सकती है. कोरोना से किसी को घबराना नहीं है. लक्षणों को छिपाना जानलेवा है. चिंता न करें, मस्त रहें और आनंद से बीमारी का मुकाबला करें. चेहरे पर मास्क लगाना ज़रूरी है. साथ ही उचित दूरी बनाए रखें. लापरवाही करने पर दिक्कत होती है. बता दें कि चिरायु अस्पताल में उद‌्बोधन के बाद शिवराज सिंह चौहान सीएम हाउस के लिए रवाना होंगे.

मैं खुद कोरोना योद्धा बन गया हूं
सीएम ने कहा कि हमने भी लापरवाही की. मैं खुद कोरोना योद्धा बन गया हूं. कोरोना खत्म करने के लिए सहयोग करें. हम लड़ेंगे, हम जीतेंगे हमारा संकल्प होना चाहिए. कोरोना से प्रदेश जीतेगा, देश जीतेगा. बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भले ही कोरोना पॉजिटिव हों और अस्पताल में भर्ती हो लेकिन वह लगातार एक्टिव हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अस्पताल में भर्ती होने के दूसरे दिन ही बैठकों के सिलसिले शुरू कर दिए थे. मुख्यमंत्री बीते 10 दिनों से लगातार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अस्पताल से ही बैठकें कर रहे हैं यहां तक कि मंत्रालय से जुड़ी हुई कुछ अहम फाइलें भी उन्होंने अस्पताल में ही मंगाई थी और वहीं से उनका निपटारा किया था.