भोपाल। सीएम हेल्पलाईन में आने वाली कई शिकायतों पर दूसरे विभागों को कार्यवाही करना होती है, यदि इन्हें समय से अंतरित कर दिया जाये तो विभागों की छबि को धूमिल होने से बचाया जा सकता है। यह कहना है सामाजिक न्याय विभाग के प्रमुख सचिव प्रतीक हजेला का।हजेला ने सभी नगरीय निकायों एवं जनपद पंचायतों के सीईओ को नये निर्देश जारी कर कहा है कि सीएम हेल्पलाईन में विवाह सहायता योजना से संबंधित शिकायत प्राप्त हुई थी जो सामाजिक न्याय विभाग से संबंधित न होकर श्रम विभाग से संबंधित थी। इस शिकायत को समय-सीमा में संबंधित विभाग को अंतरित न करने के कारण यह शिकायत सामाजिक न्याय विभाग में ही प्रदर्शित होती रही। इससे इसका समय पर निराकरण भी नहीं हो पाया। अन्य विभाग की शिकायत लंबित रहने से उस विभाग की छबि धूमिल होती है। हजेला ने निर्देश दिये कि सीएम हेल्पलाईन में विभाग अंतर्गत प्राप्त हो रही शिकायतें विशेषकर मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह/कल्याणी विवाह सहायता योजना एवं अंत्येष्टि सहायता योजना से संबंधित शिकायतों का विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के प्रावधानों के तहत गंभीरता से परीक्षण करें एवं विभाग से संबंधित न होने पर तत्काल संबंधित विभाग को हस्तांतरित करें जिससे समय-सीमा में उक्त शिकायतों का निराकरण व अनुश्रवण संबंधित विभाग द्वारा अविलंब किया जा सके।