बीजिंग । कोरोना संक्रमण के कारणों का पता लगाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के विशेषज्ञों का दल वुहान में वायरोलाजी लैब और मांस के बाजारों की जांच करेगी। भारी वैश्विक दबाव के बीच चीन सरकार ने हाल ही में वुहान में जांच करने की अनुमति दे दी है। इस बीच वुहान के मेयर झोऊ शिनवांग ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। ज्ञात हो कि मेयर झोऊ पर कोरोना संक्रमण की जानकारी छिपाने का आरोप है। झोऊ ने वुहान में लॉकडाउन लगने का एक साल पूरा होने से एक दिन पहले इस्तीफा दिया है। 
वुहान में कोरोना संक्रमण काबू करने के लिए पिछले साल 23 जनवरी को सब कुछ बंद कर दिया गया था। वुहान  चीन का वही शहर है, जहां से 2019 के आखिरी महीनों में कोरोना संक्रमण की शुरुआत हुई थी और बाद में वह पूरी दुनिया में फैल गया। पूरी वास्तविकता जानने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के दल ने वुहान में जांच के लिए चीन सरकार से अनुमति मांगी थी। 
विश्व स्वास्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को चीन सरकार ने महीनों तक रोके रखने के बाद इसी सप्ताह जांच करने की अनुमति दी है। वह दल वुहान जाकर जांच करेगा और कोरोना फैलने के कारणों का पता लगाएगा। उल्लेखनीय है कि पूर्व में भी कोरोना संबंधी जानकारियां छिपाए जाने और वुहान में रहने वालों को विदेशी मीडिया से बात करने पर रोक लगाई जाती रही है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार वुहान में कोविड-19 से 3,869 लोग मरे। आशंका है कि मरने वालों का वास्तविक आंकड़ा इससे कई गुना ज्यादा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की जांच में बहुत सी बातें सामने आ सकती हैं।