आज के समय में कुछ लोग हैं जो चाणक्य नीति के बारे में नहीं जानते तो कुछ ऐसे हैं जो इनकी नीतियों पर विश्वास नहीं रखते। ऐसे लोगों के लिए ये जानना बहुत ज़रूरी है कि आज के समय में भी कि अगर कोई व्यक्ति इन नीतियों को अपना लेता है तो उसके जीवन की ज्यादातर समस्याओं का खुद-ब-खुद हल निकल जाता है। तो चलिए जानते हैं चाणक्य द्वारा बताई स्त्रियों के बारे में कुछ खास बातें जिन्हें हर पुरुष के लिए जानना ज़रूरी है।

 
आचार्य चाणक्य कहते हैं महिलाएं पुरुषों से अधिक समझदार और बुद्धिमान होती हैं। ये किसी भी काम को बड़े ही चालाकी और बुद्धि से पूरा कर लेती हैं। चाहे जीवन में कितनी ही कठिनाइयां क्यों ना आ जाए तब भी महिलाएं अपनी बुद्धि के बल पर आगे निकल जाती है। आइये जानते हैं वो कौन से मामले हैं, जिसमें महिलाएं आगे हैं-
श्लोक-

स्त्रीणां दि्वगुण आहारो बुदि्धस्तासां चतुर्गुणा
साहसं षड्गुणं चैव कामोष्टगुण उच्यते
चाणक्य के अनुसार महिलाएं खाने के मामले में पुरुषों से ज्यादा तेज होती हैं। चाणक्य नीति के अनुसार, महिलाओं को मर्दों की तुलना में अधिक भूख लगती है। अगर स्वास्थ्य की दृष्टि से बात की जाए तो महिलाओं को पुरुषों की अपेक्षा अधिक कैलोरी की जरूरत पड़ती है, ऐसे में महिलाओं को पुरुषों से अधिक भोजन ग्रहण करना चाहिए। चाणक्य नीति के अनुसार महिलाएं पुरुषों से ज्यादा समझदार और बुद्धिमान होती हैं। महिलाएं किसी भी काम को बड़े ही चालाकी और बुद्धि से पूरा कर लेती है।

 

आमतौर पर पुरुष को ज्यादा पराक्रमी और साहसी माना जाता है। लेकिन चाणक्य नीति के अनुसार पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा साहस वाली होती हैं। आचार्य चाणक्य के अनुसार, महिलाएं पुरुषों से 6 गुना अधिक साहसी होती हैं।
चाणक्य नीति के अनुसार, महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा 8 गुना अधिक काम भावना होती है। आचार्य चाणक्य के अनुसार, यौन संबंध बनाने की इच्‍छा पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अति तीव्र होती है।