नई दिल्ली । केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने के सरकार के निर्णय का स्वागत कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कदम उठाकर कुशल राजनीतिज्ञ होने का परिचय दिया है। पीएम मोदी ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और संसद सत्र शुरू होने से पहले राष्ट्र के नाम संबोधन में इन कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की। शाह ने घोषणा के बाद ट्वीट कर कहा, कृषि कानूनों के संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा स्वागत योग्य और कुशल राजनीतिक कदम है।जैसा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार किसानों की सेवा करती रहेगी और हमेशा उनके प्रयासों का समर्थन करेगी। एक अन्य ट्वीट में शाह ने कहा कि मोदी जी की घोषणा में यह अद्भुत बात है कि उन्होंने घोषणा के लिए गुरु पर्व के विशेष दिन को चुना है। इससे पता चलता है कि उनके मन में प्रत्येक भारतीय के कल्याण के अलावा कोई अन्य विचार नहीं है। उन्होंने असाधारण शासन कला का परिचय दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में इन तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की संविधान सम्मत प्रक्रिया पूरी कर देंगे।