लखनऊ. जहां एक ओर अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्मभूमि (Ram Janambhoomi) व बाबरी मस्जिद (Babri Mosque) जमीन विवाद (Property Dispute) को लेकर आखिरी दिन की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में जारी है, वहीं सियासी दलों की प्रतिक्रियाओं का दौर भी शुरू हो गया है. उन्नाव (Unnao) से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) ने दावा किया है कि 6 दिसम्बर तक अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे महापुरुषों की वजह से देश का यह सपना पूरा होगा.

न्यूज18 से बातचीत में बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा, "6 दिसंबर तक राम मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा. तय वक़्त में सुनवाई पूरी करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद. नरेंद्र मोदी और अमित शाह जैसे महापुरुषों की वजह से हमारा सपना पूरा होगा."

हिन्दू-मुस्लिम मिल कर राम मंदिर का निर्माण करें

साक्षी महाराज यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि हिन्दू-मुस्लिम मिल कर राम मंदिर का निर्माण करें. साक्षी महाराज ने कहा कि सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड भी इस बात को स्वीकार करे की बाबर उनका पूर्वज नहीं आक्रांता था.

इन्हें भी पढ़ें 
सुन्नी वक्फ बोर्ड ने केस टालने के लिए चली है ये नई चाल: विनय कटियारसुन्नी वक्फ बोर्ड ने केस टालने के लिए चली है ये नई चाल: विनय कटियारसुन्नी वक्फ बोर्ड के हलफनामे पर बोले बाबरी पक्षकार- हम अपनी बात पर कायम हैंसुन्नी वक्फ बोर्ड के हलफनामे पर बोले बाबरी पक्षकार- हम अपनी बात पर कायम हैंअयोध्या मामला: गिरिराज सिंह बोले- कोर्ट पर पूरा भरोसा, मंदिर जरूर बनेगाअयोध्या मामला: गिरिराज सिंह बोले- कोर्ट पर पूरा भरोसा, मंदिर जरूर बनेगाअयोध्या विवाद सुनवाई LIVE: कोर्ट रूम में धवन ने राम मंदिर के नक़्शे को फाड़ाअयोध्या विवाद सुनवाई LIVE: कोर्ट रूम में धवन ने राम मंदिर के नक़्शे को फाड़ाAyodhya Case: सुन्नी वक्फ बोर्ड ने SC में दिया हलफनामा, वापस लेना चाहता है केसAyodhya Case: सुन्नी वक्फ बोर्ड ने SC में दिया हलफनामा, वापस लेना चाहता है केस
इतने सालों के इंतज़ार के बाद अब फैसला आएगा: स्वामी

उधर बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की इतने सालों के इंतज़ार के बाद अब फैसला आएगा. मेरी याचिका के बाद सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई में तेज़ी आयी. अब जो पक्ष अपने दावे वापस ले रहे हैं, उनको पहले ही सोचना चाहिये था. ये मामला कोर्ट में जाना ही नही चाहिए था. उन्होंने कहा कि सिर्फ दीपावली ही क्यों, राम के चरित्र को दुनिया को दिखाने के लिए अगले एक साल तक त्योहार मनाने चाहिए. भगवान राम को खुद नही पता था कि वो भगवान हैं. तमिल कवि ने अपनी रचना में बताया.