गोरखपुर. गोरखपुर सदर से भाजपा (BJP) के सांसद (MP) और फिल्म स्टार रवि किशन शुक्ला (Ravi Kishan shukla) ने अपने एक साल के कार्यकाल को शानदार बताया है. रवि किशन ने कहा कि वो विशुद्ध रूप से एक कलाकार हैं. उन्होंने कहा कि महाराज जी (योगी आदित्यनाथ) ने जैसे हमको सिखाया, अमित शाह जी, पीएम ने जो निर्देश दिया उसपर काम किया. गोरखपुर से चुनाव जीतने के बाद मैं गांव गांव गया, लोगों को लग रहा था कि चुनाव जीतने के बाद मैं वापस चला जाऊंगा पर मैं यहां पर लोगों की समस्या को उठाता रहा. जिस तरह से प्रधानमंत्री के करनी और कथनी में अंतर नहीं है, उसी तरह से मेरे भी करनी और कथनी में अंतर नहीं है.

 

मैंने पहली बार विपक्ष को फ्रस्ट्रेटेड देखा

लॉकडाउन के दौरान मुंबई में रहने पर कहा कि विपक्ष का काम है कटाक्ष करना, पर मैं पहली बार विपक्ष को फ्रस्ट्रेटेड देखा है, भोजपुरी में कहा जाता है बौवरा गये हैं. विपक्ष अपना पैर अपने मुंह में लेकर चबा रहा है. ये पागल हो गये हैं. 40 से 50 साल तक तक विपक्ष को अपना भविष्य नहीं दिख रहा है, इसलिए विपक्ष पगलाकर अपना शरीर नोच रहा है. ये लोग बाल तो नोचते ही थे पर अब शरीर नोच रहे हैं, कुछ नहीं मिला तो सांसद कहां है पर सवाल उठा रहे हैं. ये बोका लोग, जाहिल लोगों को पता ही नहीं सांसद जी ट्रेन पर लोगों को चढ़वा रहे हैं, इनको पता ही नहीं इनके सांसद आजमगढ़ से गायब हैं. इनके विधायक गायब हैं, एक किलो राशन नहीं बांटे, अपनी बिरादरी को भी कुछ नहीं किये.

 

सटला को गइला...

भाजपा, पीएम मोदी और सीएम योगी ने सभी की मदद की है. 2022 में इनको जो सीटें मिली है वो भी नहीं मिलेगी. रवि किशन ने कहा कि वो मुंबई में राशन वितरण के साथ गोरखपुर के 22 मंडलों में राशन वितरण किया. सहजनवां में सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लघंन पर कहा कि मैने पहले ही कहा था कि आप लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. मैं बार- बार लोगों से कह रहा था कि दूरी बना कर रखें, इसी कारण कह रहा था कि सटला को गइला. सबको बताया गया कि सब लोग मास्क पहने, वहां पर मुझे देख कर कुछ लोग उत्साह में आ गये फोटो खिचाने के लिए. जिस पर हमने अपने कार्यकर्ताओं को डांटा. कुछ लोग हमको देखकर उत्साहित हो जाते हैं.

 

दरभंगा की बेटी ज्योति पर बनाऊंगा फिल्म

विपक्ष कह रहा था कि कहां गये सांसद जी, तो अगर सांसद जी आयेंगे तो भीड़ आयेगी क्योंकि इसी भीड़ ने मुझे 30 सालों से सुपरस्टार बनाया, जहां जायेंगे भीड़ जुटेगी. बिहार के दरभंगा की बेटी ज्योति के बारे में रविकिशन ने कहा मेरी उससे बात हुई है. उसने मुझे अपने गांव आने को कहा है, मैंने उससे कहा कि उसके संघर्षों पर मैं एक फिल्म बनाऊंगा और उस का डायरेक्ट करूंगा. मुझे उसका संघर्ष पंसद आया. मैं भी एक गरीब परिवार से हूं, मेरे पिता जी एक पुजारी थे. मैं उसके ऊपर एक फिल्म बनाऊंगा.