सहारनपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सहारनपुर (Saharanpur) में बीजेपी नेता एवं पूर्व सांसद जगदीश राणा (Jagdish Rana) का सोमवार रात करीब सवा आठ बजे निधन हो गया. 67 वर्षीय जगदीश राणा की कोविड -19 जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. करीब 12 दिन से उनका फरीदाबाद स्थित अस्पताल में उपचार चल रहा था. उनके निधन की सूचना से परिवार और उनके परिचितों में शोक छा गया.

मूलरूप से सहारनपुर बेहट तहसील के जीवाला गांव के रहने वाले थे जगदीश राणा. फिलहाल उनका परिवार अहमद बाग कालोनी में रहता है. उनके निधन की खबर मिलते ही रिश्तेदार और अन्य लोग यहां पहुंच गए. परिवार में जगदीश राणा के दो भाई महावीर राणा पूर्व विधायक हैं तो दूसरे भाई हेम सिंह राणा फरीदाबाद में कारोबार करते हैं. जगदीश राणा के दो पुत्र हैं, जिनमें अजय प्रताप राणा और विजय प्रताप राणा हैं. वहीं बेटी रीतू राणा अमेरिका में रहती हैं.

तीन बार विधायक भी रहे
जगदीश राणा तीन बार मुज़फ्फराबाद सीट से विधायक रहे और 2009 में बसपा के टिकट पर सहारनपुर से सांसद चुने गए थे. इससे पूर्व में वह प्रदेश में सपा की सरकार के दौरान केबिनेट मंत्री भी रहे. वर्ष 2016 में वह भाजपा में शामिल हो गए थे. काफी दिन से उनकी तबीयत खराब चल रही थी.

बसपा से सांसद चुने गए
एक बार सांसद एवं तीन बार विधायक रहे जगदीश सिंह राणा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोकप्रिय नेताओं में गिने जाते थे. 2004 में यूपी की सपा की सरकार में काबीना मंत्री रहे जगदीश सिंह राणा सौम्य एवं बेदाग छवि के राजनेता थे. 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने बसपा के टिकट पर सहारनपुर से चुनाव लड़ा था और उन्होंने काज़ी रशीद मसूद को शिकस्त देकर बड़ा उलटफेर किया था. 2016 में वह अपने अनुज महावीर राणा के साथ बीजेपी में शामिल हुए थे. पिछले काफी समय से अस्वस्थता के चलते वह सक्रिय राजनीति से दूर थे. उनके निधन से सहारनपुर की राजनीति का एक युग समाप्त हो गया.