अहमदाबाद । ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन  चुनाव से पहले प्रचार के लिए पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने 'गली चुनाव' में प्रचार को लेकर कसे जा रहे तंज पर भी जवाब दिया। उन्होंने इसे 74 लाख वोटर्स का अपमान करार दिया है। नड्डा ने कहा, मेरे यहां आने से पहले कहा गया कि एक पार्टी का अध्यक्ष 'गली के चुनाव' के लिए आ रहा है। यह हैदराबाद के निर्वाचकों का अपमान है। 74 लाख वोटर्स, 5 लोकसभा सीटें,  24 विधानसभा सीटें और 1 करोड़ आबादी, क्या यह आपके लिए गली है गौरतलब है कि टीआरएस वर्किंग प्रेजिडेंट केटी रामा राव ने गुरुवार को नड्डा, अमित शाह और योगी आदित्यनाथ जैसे नेताओं के चुनाव प्रचार के लिए आने की खबर पर हैरानी जताते हुए कहा था कि 'गली चुनाव' के लिए बीजेपी के इतने राष्ट्रीय नेता पहुंच रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अच्छा होता कि ये नेता उस समय आते जब शहर ने भारी बारिश और बाढ़ का सामना किया था। नड्डा ने कांग्रेस को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, जम्मू-कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला कहते हैं कि वह अनुच्छेद 370 को चीन की मदद से बहाल करेंगे। महबूबा मुफ्ती कहती हैं कि जब तक जम्मू-कश्मीर का झंडा बहाल नहीं हो जाता वह तिरंगा नहीं उठाएंगी। ये राष्ट्रीय नेता हैं। कांग्रेस मोदी का विरोध करती है, लेकिन देश का विरोध करने लगती है। यह गुपकर गठबंधन के साथ खड़ी है। गौरतलब है कि ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन चुनाव में जीत हासिल करने के लिए बीजेपी कोई कसर नहीं छोड़ रही है। 1 दिसंबर को होने जा रहे चुनाव के लिए पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है। शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रचार किया तो गृहमंत्री अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनात जैसे दिग्गज उम्मीदवारों के लिए वोट मांगने पहुंचेंगे। सबसे बड़ी रैली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह करने वाले हैं। वह प्रचार के आखिरी दिन रविवार को सिकंदराबाद में रैली को संबोधित करेंगे। शुरुआत में पीएम मोदी को भी रैली के लिए आमंत्रित करने का प्लान था, लेकिन समय की कमी की वजह से ऐसा नहीं हो पाया। सीनियर बीजेपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस गुरुवार को हैदराबाद में थे और उन्होंने पार्टी के घोषणापत्र को जारी किया। इससे पहले केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और स्मृति ईरानी ने भी हैदराबाद में चुनाव प्रचार किया है।