कोलकाता। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी नित तृणमूल कांग्रेस सरकार के नौ वर्ष पूरे होने पर भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई ने नौ तीखे सवाल पूछे हैं। इसके साथ ही ममता सरकार पर बंगाल में कुशासन स्थापित करने और अव्यवस्था का आरोप लगाया है। भाजपा ने सरकार के खिलाफ नौ सूत्री चार्जशीट देते हुए कहा कि ममता बनर्जी की सरकार पूरी तरह से असफल रही है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने नौ सूत्री चार्जशीट देते हुए कहा कि कोरोना को लेकर स्वास्थ्य व्यवस्था, अम्फन मुकाबला, राशन भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था व प्रजातांत्रिक व्यवस्था, अर्थव्यवस्था व उद्योग , शिक्षा व्यवस्था, कृषक विरोधी व हिंदू विरोधी सरकार पूरी तरह से असफल रही है। राज्य सरकार को सचेत करने के लिए भाजपा यह चार्जशीट दे रही है। घोष ने बुधवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में कहा कि राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार के मामले में रिकार्ड बना दिया है। राशन वितरण में घोटाले हाल के उदाहरण हैं।

प्रवासी श्रमिकों की वापसी पर केंद्र सरकार की ममता बनर्जी द्वारा निंदा करने पर घोष ने कहा कि केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि प्रवासी श्रमिकों की वापस भेजेंगे। राज्य सरकार ने आरंभ से ही ढीला-ढ़ाला रवैया अपनाया है। राज्य सरकार को मानवीय रवैया अपनाना चाहिए। बनर्जी द्वारा यह कहने पर कि प्रवासी श्रमिकों की वापसी से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ेंगे, केंद्र सरकार ही इस मामले को संभालें।

दिलीप घोष ने कहा कि राज्य की जनता तो चाहती हैं कि ममता बनर्जी से मुक्ति मिले, लेकिन उत्तर प्रदेश में 400 ट्रेन जा सकते हैं, तो बंगाल में क्यों नहीं आ सकते? उन्होंने कहा कि उन लोगों को राहत कार्य के लिए जाने में बाधा दी जा रही है, लेकिन वे लोग जायेंगे और राहत कार्य करेंगे। उन्हें राहत कार्य करने से कोई नहीं रोक सकता है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं को राहत कार्य करने से रोका जा रहा है। राज्य के शिक्षा मंत्री झाड़ग्राम जाकर बैठक करते हैं, लेकिन उन्हें कोरेंटिन नहीं किया जाता है, लेकिन वह मेदिनीपुर जाते हैं, तो उन्हें एकांतवास भेजने की बात होती है। राज्य सरकार का रवैया अलग-अलग है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अम्फन मुकाबले में सीइएससी को बलि का बकरा बनाने की कोशिश कर रही हैं। इसके पहले भी वह यही करते रही हैं। राशन घोटाले और कोरोना संभालने में असफल रहने के बाद क्रमश: खाद्य सचिव व स्वास्थ्य सचिव को हटाकर अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की थी।