एक्सीडेंट में घर का इकलौता चिराग बुझा:भोपाल में स्कॉर्पियो की टक्कर से बाइक और युवक हवा में उछले; एक की मौत, दूसरा गंभीर, गाड़ी टुकड़े-टुकड़े हुई

हबीबगंज पुलिस क्रेन की मदद से मौके से उठाकर बाइक को थाने लाई। काफी हिस्सा मौके पर ही छूट गया।
पुलिस को चकनाचूर बाइक का काफी हिस्सा मौके पर ही छोड़ना पड़ा
पति और बड़े बेटे की मौत के बाद बुजुर्ग महिला का एकमात्र सहारा भी छिना

भोपाल के हबीबगंज थाना क्षेत्र में तेज रफ्तार स्कॉर्पियो ने बाइक सवारों को टक्कर मार दी। एक्सीडेंट इतना भयानक था कि बाइक टुकड़े-टुकड़े होकर बिखर गई। हादसे में एक की मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर हालत में बताया जाता है। मृतक पिता और बड़े भाई की मौत के बाद बुजुर्ग मां का एक एकमात्र सहारा था।

बाइक की हालत देखकर पुलिस अंदाजा लगा रही है कि स्कॉर्पियो की स्पीड काफी अधिक रही होगी
न्यू रविदास कॉलोनी, जिंसी निवासी 22 वर्षीय विकास चौधरी प्राइवेट जॉब करता था। हबीबगंज पुलिस थाने के एसआई अमित भदौरिया के अनुसार विकास शुक्रवार रात करीब 1 बजे बाइक से 12 नंबर की तरफ से हबीबगंज होते हुए घर लौट रहा था। उसके साथ बाइक पर कौशल अहिरवार भी था। वंदेमातरम चौराहे के पास पीछे से स्कार्पियो ने उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर से बाइक और दोनों युवक हवा में उछलते हुए दूर जा गिरे। हादसे में विकास की मौके पर ही मौत हो गई। उसके कंधे, सिर और कमर में गंभीर चोटें आई थी। कौशल की हालत गंभीर है।

बाइक के टुकड़े अभी मौके पर ही बिखरे हुए हैं। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि सड़क के चारों तरफ बाइक टूटकर बिखर गई।

पांच साल पहले भाई की भी मौत हो चुकी थी
विकास के चाचा प्रहलाद चौधरी ने बताया कि लॉकडाउन के कारण विकास अभी कुछ नहीं कर रहा था। शुक्रवार शाम वह अपनी बुआ के यहां गया था। रात को वहीं से लौट रहा था। उसकी मौत से करीब 5 साल पहले उसके बड़े भाई की करंट लगने से मौत हो चुकी है। पिता की भी पहले ही मृत्यु हो चुकी है। अब विकास उनकी भाभी का इकलौता सहारा था। विकास की तीन बड़ी बहनें हैं, जिनकी शादी हो चुकी हैं।

विकास हवा में उछलने के बाद सड़क पर गिर गया। वह दोबारा उठ नहीं पाया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

मौके पर ही बिखरे पड़े हैं टुकड़े
एसआई अमित भदौरिया ने बताया कि स्कॉर्पियो की स्पीड काफी अधिक रही होगी। इसका अंदाजा गाड़ी की हालत देखकर ही लगता है। बाइक के टुकड़े-टुकड़े हो गए। इस कारण वह सड़क पर पूरी तरह बिखर गई थी। विकास भी उछलने के बाद जब जमीन पर गिरा, तो दोबारा उठ नहीं पाया। एक गाड़ी का नंबर लोगों से मिली जानकारी के आधार पर सामने आया है। वह कोहेफिजा इलाके के किसी डॉक्टर का बताया जाता है। हम उसकी पड़ताल कर रहे हैं