हरियाणा के हिसार में चल रही सेना की भर्ती से मेडिकल करवाकर लौट रहे युवकों के ऑटो पर टैंकर चढ़ने से ऑटो चालक सहित 10 युवकों की मौत हो गई। हादसे में एक युवक गंभीर रूप से घायल है। घायल को सिविल अस्पताल से पीजीआई रोहतक रेफर किया गया है। हादसा मंगलवार देर रात करीब 11 बजे रामराये गांव के पास हुआ। समाचार लिखे जाने तक सात मृतक युवकों की पहचान हो पाई थी।
पुलिस के अनुसार, जिले के विभिन्न गांवों के युवक एक कोचिंग अकादमी में पढ़ते थे। इसमें कई युवकों हिसार में चल रही सेना की भर्ती में शामिल होने गए थे। सोमवार को जो युवक शारीरिक दक्षता में सफल रहे उनका मंगलवार को मेडिकल होना था। देर शाम मेडिकल होने के बाद 10 युवक ऑटो से जींद आ रहे थे। देर रात करीब 11 बजे रामराये गांव के पास सामने से आ रहे एक टैंकर से ऑटो की सीधी टक्कर हो गई।

पुलिस के अनुसार ऑटो चालक तेज लाइट के चलते सामने से आ रहे टैंकर को ठीक से देख नहीं पाया। हादसे में ऑटो सवार सभी युवक और हिसार निवासी ऑटो चालक टैंकर के नीचे दब गए। इन्हें निकालने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।
मरने वालों में बुराडहैर गांव निवासी रोबिन व मंगल, भड़ताना गांव निवासी संजय व धड़ौली गांव निवासी सुमित, संजय गांव पाजूकलां, भारत गांव पिल्लूखेड़ा और दीपक गांव पाजूकलां शामिल हैं। बाकी की पहचान नहीं हो पाई है। डीएसपी कप्तान सिंह के अनुसार पहचान के लिए अकादमी संचालक को अस्पताल बुलाया गया है।

भाई हैं संजय और परमजीत
हादसे का शिकार हुए भड़ताना गांव निवासी संजय व परमजीत आपस में भाई हैं। संजय की मौत हो गई जबकि परमजीत गंभीर रूप से घायल है।

रात को जींद के लिए वाहन नहीं मिलने पर बुक किया ऑटो
अस्पताल पहुंचे युवकों के परिजनों ने बताया कि रात करीब आठ बजे युवकों से बात हुई थी कि मेडिकल हो गया है और अब घर आने के लिए निकलेंगे। वाहन नहीं मिलने के कारण युवकों ने जींद के लिए ऑटो बुक किया था।

पल भर में मातम में बदल गईं खुशियां
सेना में भर्ती के लिए शारीरिक परीक्षण के बाद मेडिकल होने से सभी युवक खुद व उनके परिजन काफी खुश थे, लेकिन किसी को भी नहीं पता था कि यह खुशी पल भर में ही मातम में बदल जाएगी।