मुंबई । भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा है कि बैंकों को आने वाली चुनौतियों से जूझने के लिए खुद को तैयार रखने की जरूरत है। रिजर्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट ‘ट्रेंड एंड प्रोग्रेस ऑफ बैंकिंग इन इंडिया 2019-20' में कहा है कि केंद्रीय बैंक ने बैंकों की बैंलेस शीट, कॉरपोरेट और लोगों को कोरोना वायरस महामारी से होने वाली दिक्कतें कम करने के लिए सही समय पर उपाय किए हैं। 
आरबीआई ने कहा है कि बैंकिंग में मजबूती संबंधी संकेतक अस्पष्ट हैं और बैंक आसन्न तनाव की तैयारी में पूंजी जुटा रहे हैं।  केंद्रीय बैंक ने कहा, कर्ज की किस्तें चुकाने से दी गई छूट की अवधि (मोरेटोरियम) समाप्त होने के साथ ही पुनर्गठन के प्रस्तावों की समय सीमा तेजी से नजदीक आ रही है। ऐसे में बैंकों की वित्तीय स्थिति पर संपत्ति की गुणवत्ता व भविष्य की आय के संदर्भ में असर पड़ सकता है। रिजर्व बैंक ने कहा कि ऐसे में बैंकों को तैयार रहना चाहिए।