मुंबई । भारतीय रिजर्व बैंक के ताजा आंकड़ों के अनुसार आठ मई को समाप्त पखवाड़े के अंत में बैंक कर्ज एक साल पहले के मुकाबले 6.52 प्रतिशत बढ़कर 102.52 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया जबकि इस दौरान बैंकों में जमा धन 10.64 प्रतिशत बढ़कर 138.50 लाख करोड़ रुपए था। इससे पहले 10 मई 2019 को समाप्त पखवाड़े में बैंक कर्ज 96.24 लाख करोड़ रुपए और जमा 125.17 लाख करोड़ रुपए थी। इससे पिछले पखवाड़े से तुलना करने पर बैंक कर्ज 21,010.36 करोड़ रुपए घटकर 102.52 लाख करोड़ रुपए रह गया। इससे पिछले सप्ताह 24 अप्रैल 2020 को समाप्त पखवाड़े में यह राशि 102.73 लाख करोड़ रुपए थी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा था कि सरकारी क्षेत्र के बैंकों ने एमएसएमई, कृषि और खुदरा सहित विभिन्न क्षेत्रों के लिए 6.45 लाख करोड़ रुपए का कर्ज मंजूर किया है। ये मंजूरी एक मार्च से 15 मई के बीच दी गई। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने 8 मई की समाप्ति तक 5.95 लाख करोड़ का कर्ज मंजूर किया। इससे पहले सीतारमण ने ट्वीट किया था ‎कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने एक मार्च से 15 मई के बीच एमएसएमई, खुदरा, कृषि और कारपोरेट क्षेत्रों के 54.96 लाख खातों में 6.45 लाख करोड़ रुपए के कर्ज को मंजूरी दी है। यह आठ मई को मंजूर किये गए 5.95 लाख करोड़ रुपए के मुकाबले उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।