मेलबर्न । ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा है कि भारत के खिलाफ सीरीज में  ऑस्ट्रेलियाई सलामी जोड़ी के लिए डेविड वॉर्नर के साथ जो बर्न्स की जगह विल पुकोवस्की को तरजीह दी जाये। उनके विचार हालांक ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर से मेल नहीं खाते हैं, जिन्होंने बर्न्स का समर्थन किया जो फॉर्म में नहीं हैं। चैपल ने कहा, ‘आपको भागीदारी की अहमियत को लेकर अधिक अंदाजा नहीं लगाना चाहिए। बर्न्स का पिछली गर्मियों में प्रदर्शन 32 के एवरेज के साथ दो अर्धशतकों से कुल 256 रन बनाना था। यह टेस्ट खिलाड़ी के लिए औसत से कम प्रदर्शन है।’ उन्होंने कहा, ‘वहीं पुकोवस्की ने शील्ड स्तर पर छह शतक लगाए, जिसमें से तीन दोहरे शतक थे और इसमें से दो दोहरे शतक इस सत्र में लगे।’ वहीं, चैपल को लगता है कि कोविड-19 महामारी के दौर में तैयारियों की बात की जाए तो इसमें भारत आगे है। उन्होंने कहा, ‘इन गर्मियों में महामारी के कारण ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट कार्यक्रम को लगे झटके से भारत को पिछले दौरे में मिली जीत को दोहराने की मुहिम में फायदा मिलेगा। ’भारतीय टीम 13 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद अभी 14 दिनों के पृथकवास से गुजर रही है, हालांक इस दौरान उसे अभ्यास की अनुमति मिली हुई है।