गोपालगंज. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में जनरल डायर के बाद अब औरंगजेब की भी इंट्री हो गयी है. बीजेपी (BJP) के फायर ब्रांड नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने औरंगजेब शब्द का प्रयोग कर चुनावी बयान को और रोचक बना दिया है. केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पूर्व उपमुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) की तुलना मुगल बादशाह औरंगजेब से की है.

गिरिराज सिंह ने तेजस्वी यादव पर जुबानी हमला बोलते हुए कहा कि तेजस्वी यादव वैसे नेता हैं जो अपने मां-बाप की विरासत पर आगे बढ़े नेता बने, लेकिन अब उन्होंने पोस्टर से अपने ही पिता लालू प्रसाद यादव का फोटो गायब कर दिया. ये बातें गिरिराज सिंह ने गोपालगंज में कही. वो गोपालगंज के बंजारी चौक स्थित एक होटल में पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने कहा कि जिनकी राजनीतिक विरासत पर तेजस्वी यादव ने अपना चेहरा चमकाने की कोशिश की, पोस्टर से उसी मां-बाप की तस्वीर को गायब कर दिया और ये इतिहास बताता है कि पूर्व में भी कई सम्राटों ने ऐसा किया था.

दरअसल केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह इन दिनों गोपालगंज में कैंप किए हुए हैं. यहां वे गुरुवार को बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र में एनडीए के भाजपा प्रत्याशी मिथिलेश तिवारी के लिए जनसंपर्क करेंगे. गिरिराज सिंह ने कहा कि आज तेजस्वी यादव कहते हैं कि बिहार में विकास दिखाई नहीं देता है तो उन्हें रात को भी हेलिकाप्टर से जाकर विकास देखना चाहिए कि विकास किसको कहते हैं.

आज बिहार में सड़कें बनीं, घर-घर में बिजली पहुंच गई. पहले आम आदमी के घरों में घरेलू गैस का कनेक्शन नहीं होता था. आज झोपड़ियों में, गरीबों के घरों में उज्ज्वला योजना के तहत गैस पर खाना बनता है. केन्द्रीय मंत्री ने कहा सोनपुर से लेकर मिथिलांचल का वह भाग गंगा, गंडक, सोन पर 17 पुलों का निर्माण हुआ. दो बड़ा रेल इंजन का कारखाना बना. विकास किसे कहते हैं. उन्हें विकास की परिभाषा को समझना होगा.


गिरिराज ने कहा कि बिहार चुनाव में एक तरफ विकास है तो एक तरफ विनाश है. अब बिहार की जनता को तय करना है कि खून खराबा करने वाला, बम फोड़ने वाला जमावड़ा महागठबंधन को वोट देंगे या दूसरे तरफ नारियल फोड़ने वाले को देंगे. ये दोनों लोगों के बीच की लड़ाई है. एक विकास और विनाश, एक बम और एक नारियल.