रायपुर
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में गणेश विसर्जन के दौरान हत्या (Murder) के मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार (Arrest) करने का दावा किया है. पुलिस (Police) का दावा है कि मृतक और हत्यारों में कोई संबंध नहीं था. आरोपी मृतक से अंजान थे. पुलिस ने बताया कि आरोपी ने शराब के लिए मृतक से एक हजार रुपये की उगाही करनी चाही थी. मृतक द्वारा मना करने पर आरोपी ने शख्‍स पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई.
रायपुर (Raipur) के गोलबाजार पुलिस थाना क्षेत्र में बीते 14 सितंबर को गणेश विसर्जन के दौरान हत्या (Murder) का मामला सामने आया था. इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. तीनों मृतक जयचंद को अकेला पाकर उससे जबरन वसूली करने पहुंचे थे. पैसे मांगेने पर विवाद हुआ और तीनों ने मारपीट करते हुए जयचंद का सिर जमीन पर पटक दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. इसी मामले में बीते सोमवार को रायपुर पुलिस ने खुलासा किया है.
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, घटना के बाद मृतक के बेटे दिलीप मण्डावी से पूछताछ की गई. घटनास्थल पर लगे सीसीटीव्ही कैमरे के फुटेज को चेक करने पर पाया गया कि घटना के वक्त राजेश भवन की दुकान के सामने बैठा था. उसी दौरान आरोपी अंकित, विक्रम और घनश्याम वहां पहुंचे. पूछताछ में यह बात सामने आई कि आरोपी शराब पीने के लिये मृतक जयचंद मण्डावी से एक हजार रुपये मांग रहे थे, लेकिन मृतक ने मना कर दिया. इसके चलते ही आरोपियों ने उसकी जान ले ली. आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया.