अलीगढ़ । कोरोना संक्रमण से मोर्चा लेने वाले स्वास्थ्य विभाग के फ्रंटलाइन वर्करों का फिट हेल्थ वर्कर अभियान के तहत स्वास्थ्य परीक्षण किया गया । जिले के समस्त समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ग्रामीण और शहरी क्षेत्र पर फ्रंटलाइन वर्करों की स्वास्थ्य जांच की गई । 
इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर बी पी सिंह कल्याणी ने बताया कि गांधी जयंती 2 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक अभियान चलाया गया । जिसके तहत शहरी एवं ग्रामीण इलाकों की आशा बहू, आशा संगिनी व आंगनवाड़ी कार्यकत्री, एएनएम एवं  सीएचओ, लैब टेक्नीशियन व सहायक लैब टेक्नीशियन के स्वास्थ्य की जांच की गई । 
नोडल अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एस पी सिंह ने बताया कि सभी वर्करों का फिट हेल्थ वर्कर कैंपेन के अंतर्गत चलाया गया । जिसमें जनपद के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं समुदायिक स्वास्थ्य कर्मियों जैसे आशा आदि का गैर संचारी रोगों, डायबिटीज, हाइपरटेंशन एवं सामान्य कैंसर की जांच की गई है । 
नोडल अधिकारी डॉक्टर एसपी सिंह ने बताया कि जिले में 4,751 स्वास्थ्य कर्मियों की स्क्रीनिंग हुई । जिसके अंतर्गत 2367 आशा व आशा संगिनी, 363 एएनएम, 107 स्टाफ नर्स, 50 लैब टेक्नीशियन, 69 फार्मासिस्ट अथवा 80 मेडिकल ऑफिसर, 6 स्पेशलिस्ट (सर्जन), 42 सीएचओ अथवा 1492 आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों व अन्य स्टाफ वर्करों की जांच की गई । जिसमें 269 स्वास्थ्य कर्मियों की गैर संचारी रोग से ग्रसित पाए गए जबकि इसमें 258 स्वास्थ्य कर्मियों का इलाज चल रहा है । एसीएमओ ने कहा कि सामुदायिक ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में फिट हेल्थ वर्कर स्वास्थ्य कर्मियों की सूची ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में 2 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक रिपोर्टिंग उपलब्ध कराई जा रही है । 
इस अभियान में उपलब्ध जांच जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों अथवा उप केंद्रों पर उपलब्ध कराई जा रही है । इस अभियान में जिले के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के 49 सीएचओ, 442 एएनएम, लैब टेक्नीशियन व सहायक लैब टेक्नीशियन सीधे तौर पर कोरोना संक्रमण का सामना करते हुए अपनी डय़ूटी निभा रहे हैं। शहरी क्षेत्र के अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर अकबर खान ने बताया कि सीएमओ ऑफिस सभागार में सभी अर्बन एमओआईसी के साथ फिट इंडिया कैंपेन के बारे में जानकारी दी ।