लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देशों के बाद महिलाओं और लड़कियों में सुरक्षा की भावना को और अधिक सुदृढ़ किये जाने के उद्देश्य से गठित एंटी रोमियो दल (Anti Romeo Squad) की कार्रवाई में में और अधिक तेजी लाई गई है. छेड़छाड़ की घटनाओं पर प्राथमिकता से पूर्णतया अंकुश लगाने के उद्देश्य से प्रदेश के हर जिले में एंटी रोमियो स्क्वाड सक्रिय है. पूरे प्रदेश से मिले आंकड़ों के अनुसार अब तक 35 लाख से अधिक स्थानों पर 83 लाख से अधिक व्यक्तियों की चेंकिग की गई, जिनमें 7,351 के खिलाफ मुकदमे हुए और 11,564 व्यक्ति गिरफ्तार किए गए.

सभी मंडलों की समीक्षा हुई

अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने गुरुवार को गृह एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक के दौरान इस दिशा में हुई कार्रवाई की गहन समीक्षा की. प्रदेश में प्रयागराज, आगरा, बरेली, कानपुर, लखनऊ, मेरठ, वाराणसी व गोरखपुर मण्डल तथा पुलिस आयुक्त, लखनऊ व गौतमबुद्धनगर द्वारा इस दिशा में किये गये प्रयासों की मण्डलवार समीक्षा करते हुये अवस्थी ने कहा कि ठोस और प्रभावी कार्रवाई करके जनमानस में पुलिस की बेहतर छवि का प्रदर्शन किया जाय. ताकि महिलाओं और बालिकाओं में पुलिस के प्रति और अधिक भरोसा भी बढ़े.

महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वालों पर बरतें सख्ती


बैठक में बताया गया कि प्रदेश भर में स्कूल, कॉलेजों, सार्वजनिक स्थलों जैसे मार्केट चौराहों, मॉल, पार्क, अन्य स्थान पर अब तक 35 लाख से अधिक स्थानों पर 83 लाख से अधिक व्यक्तियों की चेंकिग की गई. इनमें में से 7,351 के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई और 11,564 व्यक्ति गिरफ्तार किए गए. 35 लाख से अधिक व्यक्तियों को चेतावनी देकर छोड़ा गया. अवनीश अवस्थी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि महिलाओं और बालिकाओं के खिलाफ होने वाली किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को रोका जाय और अपराधियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाए.