नई दिल्ली| मोटापे की समस्या से दुनिया भर में लोग परेशान हैं। अब तक इसकी तमाम वजहों का अनुमान लगाया जाता रहा है लेकिन हाल ही में अमेरिका में हुई एक रिसर्च में शोधकर्ताओं ने 14 ऐसे जीन का पता लगाया है जिन्हें मोटापे के लिए जिम्मेदार माना जा सकता है। अधिक कैलोरी वाली डाइट, शुगर और फ्रक्टोज की ज्यादा मात्रा लेने पर मोटापा सीधे तौर पर बढ़ता है। इसमें सुस्त जीवनशैली का अहम रोल है, लेकिन नई रिसर्च कहती है इसके लिए इंसान का जीन भी जिम्मेदार है। इंसानों द्वारा लिए जाने वाले अतिरिक्त खाने को चर्बी में बदलने का काम कौन से जीन कर रहे हैं, यह पता चलने के बाद दवाओं के जरिए इस जीन को इनएक्टिवेट किया जा सकेगा। रिसर्च के नतीजे दवा कंपनियों को ऐसी एंटी-ओबेसिटी मेडिसिंस तैयार करने में मदद करेंगे जो मोटापे को रोक सके। वर्तमान में जिस तरह से दुनियाभर में लोगों का वजन बढ़ रहा है, उसके लिए तत्काल एंटी-ओबेसिटी थैरेपी की जरूरत है।