लखनऊ । केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को वाराणसी पहुंचेंगे। यूपी विधानसभा चुनावों की तैयारी को लेकर यह अब तक की सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण बैठक होगी। इसमें चुनाव और संगठन के प्रभारियों और पदाधिकारियों के अलावा प्रदेश के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों के प्रभारियों को बुलाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस निर्वाचन क्षेत्र से शाह हर विधानसभा क्षेत्र के लोगों को चुनाव प्रबंधन के टिप्स देंगे। अमित शाह 13 नवंबर को सपा मुखिया अखिलेश के गढ़ आजमगढ़ में भी गरजेंगे। भाजपा का जोर इस बार पूर्वांचल पर अधिक है। बीते चुनावों पर नजर डालें तो पूर्वांचल में बढ़त बनाने वाला सूबे की सत्ता पर काबिज होता रहा है। यही कारण है कि प्रधानमंत्री मोदी के कई कार्यक्रम पूरब के जिलों में हो चुके हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी पहले ताबड़तोड़ पूर्वांचल के जिलों में ही दौरे और कार्यक्रम किए। अब गृहमंत्री अमित शाह बाबा विश्वनाथ की नगरी में प्रदेशभर से आए पार्टीजनों संग सत्ता में वापसी को लेकर चुनावी मंथन करेंगे। शाह के हालिया लखनऊ दौरे के बाद भाजपा ने सभी क्षेत्रों में मंडल प्रभारियों और संयोजकों की बैठकें की हैं। पार्टी ने अपने मंडलों को पावर सेंटर बनाया है। शाह इसी को लेकर टिप्स देंगे। शुक्रवार को दोपहर एक बजे से यह बैठक वाराणसी के बड़ा लालपुर स्थित ट्रेड फेडरेशन सेंटर (टीएफसी) में होगी। दो चरणों में होने वाली इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, सह प्रभारी अनुराग ठाकुर सहित अन्य सह प्रभारी, संगठन प्रभारी राधामोहन सिंह और अन्य संगठन सह प्रभारी, उपमुख्यमंत्री द्वय केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल, सभी प्रदेश महामंत्री, सभी क्षेत्रीय अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष मौजूद रहेंगे। अमित शाह 13 को आजमगढ़ में मेडिकल कॉलेज का शुभारंभ करेंगे। वे अखिलेश यादव के चुनाव क्षेत्र में जनसभा कर सपा सहित विपक्षियों को घेरेंगे। इसके बाद वे बस्ती जाएंगे। वहां भाजपा सांसद हरीश द्विवेदी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे।