पेइचिंग । ताइवान के खिलाफ लगातार परमाणु बॉम्‍बर भेजकर दादागिरी दिखा रहे चीन के सरकारी अखबार ने चेतावनी दी है, कि दुनिया में कभी भी तीसरा विश्‍वयुद्ध भड़क सकता है।चेतावनी उस समय पर दी है, जब अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और ऑस्‍ट्रेलियाई नौसैनिक युद्धपोत लगातार साउथ चाइना सी में गश्‍त कर रहे हैं।चीन के सरकारी अखबार ने कहा कि ताइवान और अमेरिका की 'मिलीभगत' दुस्‍साहसी है और इस वजह से किसी अन्‍य युक्ति के लिए कोई जगह नहीं बची है। लेख में दावा किया कि चीन अमेरिका के साथ पूर्ण युद्ध के लिए पूरी तरह से तैयार है जो ताइवान की मदद कर रहा है।चीन ने ताइवान को भी चेतावनी दी कि वह आग के साथ खेल रहा है। उधर, ताइवान की राष्‍ट्रपति त्‍साई इंग-वेन ने दुनिया को चेतावनी दी है कि अगर उनका देश चीन के हाथों में जाता है,तब एशिया-प्रशांत क्षेत्र में इसके विनाशकारी परिणाम होगा। ताइवानी राष्‍ट्रपति ने ऐलान किया कि अगर हमारे लोकतंत्र और जीने के तरीके पर आंच आई,तब ताइवान अपनी रक्षा के लिए हर वह कदम उठाएगा जो वह उठा सकता है।
इस बीच ब्रिटेन का बेहद शक्तिशाली एयरक्राफ्ट कैरियर क्‍वीन एलिजाबेथ अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर यूएसएस रोनाल्‍ड रीगन और यूएसएस कार्ल विन्‍सन के साथ फिलीपीन सागर में संयुक्‍त अभ्‍यास करता नजर आया है। इसके साथ जापान का हेल‍िकॉप्‍टर डेस्‍ट्रायर जेएस इस भी मौजूद है। अमेरिका के साथ मौजूद इस पूरी फौज के साथ छह अन्‍य देशों के युद्धपोत भी गश्‍त लगा रहे हैं। दक्षिण चीन सागर का यह इलाका विवादित है और इस लेकर चीन और उसके पड़ोसी देशों में तलवारें खिंची हुई हैं। उधर, चीन और ताइवान के बीच खराब होते सुरक्षा हालात के बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग से फोन पर बात की है। इस बातचीत के बाद बाइडन ने कहा कि मैंने ताइवान के मसले पर शी जिनपिंग से चर्चा की है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा कि दोनों लोग इस बात पर सहमत हुए हैं कि हम ताइवान समझौते का पालन होगा।