जिनेवा  । यूरोपियन यूनियन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से अपने रिश्ते खत्म करने के अमेरिकी फैसले पर दोबारा से विचार करने का आग्रह किया है। यूरोपियन यूनियन की तरफ से इस बारे में बयान जारी किया गया है। पिछले दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से सारे संबंध खत्म करने का ऐलान किया था। ट्रंप लंबे वक्त से कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन पर हमले करते रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया था कि डब्ल्युएचओ इस मसले पर चीन केंद्रित नीतियां बना रहा है। इसके बाद उन्होंने पिछले दिनों डब्ल्युएचओ से सारे संबंध खत्म करने की घोषणा की थी।
 अब यूरोपियन यूनियन की तरफ से कहा है कि अमेरिका अपने फैसले पर पुनर्विचार करे। इस बारे में यूरोपियन कमीशन के प्रेसीडेंट उर्सुला वोन डेर लेयन और चीफ फॉरेन एनवॉय जोसेप बोरेल ने जॉइंट स्टेटमेंट जारी किया है। अपने बयान में इन्होंने कहा है कि इस वक्त दुनिया जिस तरह से कोरोना से लड़ रही है, उसमें सभी देशों के प्रयास और कई दिशाओं से कोशिशों के बाद ही ये जंग जीती जा सकती है। इन्होंने अपने बयान में कहा है कि वो अमेरिका से आग्रह करते हैं कि वो अपने फैसले पर फिर से विचार करे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को घोषणा की थी कि अमेरिका डब्ल्युएचओ से अपने सारे संबंध तोड़ने जा रहा है।
हालांकि इस बारे में पता नहीं चल पाया कि अमेरिका किस तरह से विश्व स्वास्थ्य संगठन से अलग होगा और इसमें कितना वक्त लगेगा। अमेरिका उस ट्रीटी से कैसे पीछे हटेगा, जिस पर हस्ताक्षर करने की वजह से वो संगठन से जुड़ा। ये संगठन यूनाइटेड नेशंस से भी जुड़ा है। ट्रंप ने कहा था कि हमने उन्हें अपने कार्यकलाप में सुधार लाने को कहा था, लेकिन वो इसके लिए तैयार नहीं हुए। इसके पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डब्ल्युएचओ को दिए जाने वाले अमेरिकी फंड को रोकने का ऐलान किया था।