श्रीनगर.अमरनाथ यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों के लिए खुशखबरी है. अमरनाथ यात्रा इस साल 23 जून से 3 अगस्त तक चलेगी. अमरनाथ यात्रा शुरू होने की तारीख का फैसला श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) की बैठक में लिया गया है. पिछले साल जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के बाद पैदा हुई स्थिति के चलते यात्रा स्थगित की गई थी. अमरनाथ जाने की योजना बनाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए दो मार्ग हैं. पहला 'पहलगाम मार्ग' और दूसरा 'बालटाल मार्ग'. यात्री इनमें से एक ट्रैक चुन सकते हैं. यदि तीर्थयात्री पहलगाम मार्ग (46 किमी) से जाते हैं, तो उन्हें गुफा तक पहुंचने के लिए पांच दिन लगते हैं. यदि तीर्थयात्री बालटाल मार्ग (14 किमी) से जाते हैं, तो वे पैदल एक दिन के भीतर पहुंच सकते हैं. हालांकि यह रास्ता जोखिम भरा है. यह मार्ग तीर्थयात्रियों के बीच सबसे लोकप्रिय है. गौरतलब है कि आतंक के साए में होने वाली इस यात्रा के दौरान खतरा ज्यादा बढ़ जाता है. लिहाजा सरकार को शांतिपूर्वक यात्रा सुनिश्चित कराने के लिए सुरक्षाकर्मियों की संख्या में इजाफा करना पड़ता है.