अलीगढ़ । महाशिवरात्रि के महापर्व के चलते शनिवार को बम बम भोले के जयकारों के बीच रामघाट रोड़ पर पूरा माहौल शिवमय हो गया है। इगलास, अतरौली और पिसावा और हरदुआगंज की ओर से आ रहे कावड़ियों में उत्साह देखते ही बन रहा है। 
सोमवार को महाशिवरात्रि पर भगवान शंकर का अभिषेक किया जाएगा। शहर से लेकर देहात तक शिवालयों में शिवभक्तों का हुजूम उमड़ेगा। ऐसे में गंगाघाट से जलाभिषेक के लिए कावड़ में गंगाजल लेकर सुबह से ही मथुरा वृंदावन के शिवभक्तों का रैला गुजरने लगा है। वहप नरौरा गंगाघाट के लिए रवाना हुए शिवभक्तों को ले जाने वाले वाहनों की रोड़ पर भीड़ लगी हुई है। गंगा घाटों से गंगाजल लेकर अपने गंतव्य को जा रही कावड़ियों के जत्थों की भीड़ से शनिवार को नगर की सड़कें गुलजार नजर आ रही है। सुबह से ही नगर में भोला तेरी बम, बम-बम भोले की गूंज सुनाई दे रही है। हर तरफ कावड़ियों के पग, घुंघरुओं की रुनझुन और बम-बम भोले के जयघोष होने से माहौल शिवमय हो गया है। समाज सेवियों द्वारा लगाए गए कैंपों में कावड़ियों की सेवा करने की लोगों में होड़ लगी हुई है। इन सेवा शिविरों में थके-हारे कावड़ियों को जलपान कराया जा रहा है। वहप शिवरात्रि से दो दिन पहले नगर के मंदिरों सहित अपने घरों में शिव भक्तों ने पूजा अर्चना की विशेष तैयारी की जा रही है। 
महादेव मंदिर पर कांवड़ियों  की सेवा के लिए विशेष इंतजामात  
श्री मंगलेश्वर महादेव मंदिर पर हर वर्ष की तरह 3 मार्च को भी 12:00 बजे  कांवड़ियों द्वारा महादेव का शुरू कर दिया जाएगा जल अभिषेक 
गत वर्षो की भांति इस बार भी श्री मंगलेश्वर महादेव मंदिर पर कांवड़ियों  की सेवा के लिए विशेष इंतजामात किए जा रहे हैं।तीन मार्च को 12 बजते ही कांवड़ियो द्वारा महादेव का जलाभिषेक शुरू कर दिया जाएगा।इसके लिए मंदिर में बैरीकेटिंग की व्यवस्था की गई है।उक्त जानकारी मंदिर प्रांगण में हुई प्रेसवार्ता में मंदिर समिति के अंतिम वार्ष्णेय ने दी।उन्होंने बताया कि महाशिव रात्रि पर भोलेनाथ की एक भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी।शोभायात्रा शाम चार बजे से मंदिर प्रांगण से शुरू होकर जयगंज बाजार से केपी इंटर कालेज से आगरा रोड होते हुए सासनी गेट चौराहे से पुन:मंदिर पहुंचेगी।शोभायात्रा में भोलेनाथ के तीन डोले,दो काली मां के डोले आकर्षण का केंद्र रहेगा।इसके साथ ही बैंड बाजों की धुन पर भक्त झूमते हुए चलेंगे।शोभायात्रा में श्री राज राजेश्वर मंदिर गौरांगकुटीर,नागेश्वर मंदिर के डोले भी शामिल होंगे। प्रेसवार्ता में अशोक माहेश्वरी,भारतेंदु,दीपक सर्राफ,ऋषि वार्ष्णेय,यतेंद्र वार्ष्णेय,डॉ.संजीव उपमन्यु,राजा शर्मा आदि मौजूद थे। 
अंतिम समय पर भरे जा रहे गड्ढे 
हर वर्ष फाल्गुन माह में महाशिवरात्रि पर लाखों की संख्या में कावंड़ियों का आगमन शहर में होता है लेकिन हर बार अंतिम समय में ही प्रशासन की नपद टूटती है। गुरुवार से शहर में कावड़ियों का आगमन शुरू हो गया था। लेकिन अंतिम समय में अब नगर निगम और पीडब्ल्यूडी की ओर से शहर के गड्ढे भरे जा रहे हैं।