लखनऊ । उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार की ओर से कृषि कानूनों की वापसी को किसानों की जीत बताया है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की ओर से माफी मांगे जाने को लेकर भी तंज कर कहा कि जनता माफ नहीं करेगी, जनता चुनाव में साफ करेगी।अखिलेश ने केंद्र के फैसले को चुनाव को देखकर लिया गया फैसला बताकर कहा कि जिस तरह से जनता सड़कों पर आ गई, हो सकता है उसकी वजह से घबराकर सरकार को ये फैसला वापस लेना पड़ा हो।उन्होंने सवाल किया कि चुनाव के बाद भविष्य में इस तरह के कानून नहीं लाए जाएंगे, इसका आश्वासन कौन देगा।
सपा सुप्रीमो ने किसानों को बधाई देकर कहा कि जनता को सतर्क रहना होगा।बिना इन्हें हटाए किसानों के हित में फैसले नहीं होने वाले हैं, इनका दिल साफ नहीं है।चुनाव बाद ये फिर से बिल लाएंगे।अखिलेश ने सरकार पर हमला बोलकर सवालिया लहजे में कहा कि आंदोलन के दौरान जिन किसानों की जान गई है, क्या बीजेपी उनकी जान वापस ला सकती है।क्या किसानों पर अत्याचार के लिए ये सरकार माफी मांगेगी?
उन्होंने लखीमपुर खीरी की घटना का जिक्रकर सवाल किया कि जिस मंत्री पर आरोप है, उसे मंत्रिमंडल से कब निकाला जाएगा।पूरे मंत्रिमंडल को इस्तीफा देना चाहिए, सरकार को इस्तीफा देना चाहिए।अखिलेश ने एमएसपी का मामला उठाकर सवाल किया कि इस लेकर कब कानून बनेगा।