गुजरात में 74 आईपीएस, एसपीएस अधिकारियों के तबादले किए गए। सूरत के पुलिस कमिश्नर समेत 5 आईपीएस अधिकारियों का भी तबादला हुआ है। जानकारी के अनुसार अहमदाबाद के स्पेशल कमिश्नर ऑफ पुलिस अजय तोमर सूरत के नए और 22वें पुलिस कमिश्नर होंगे।

सूरत के पुलिस कमिश्नर आरबी ब्रह्मभट्‌ट का तबादला वडोदरा

वहीं, सूरत के पुलिस कमिश्नर आरबी ब्रह्मभट्‌ट का तबादला वडोदरा में किया गया है। इसके अलावा एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम एंड ट्रैफिक) एचआर मुलियाना को सूरत शहर का एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस सेक्टर-2 नियुक्त किया है। बीआर पंडोर को अतिरिक्त प्रभार से मुक्त किया गया है। मुलियाना की जगह जामनगर के पुलिस अधीक्षक शरद सिंघल एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस (ट्रैफिक एंड क्राइम) का भार संभालेंगे। अहमदाबाद जोन-1 के डीसीपी पीएल मल सूरत ज्वाइंट कमिश्नर सेक्टर-8 का पदभार ग्रहण करेंगे। एचआर मुलियान को अतिरिक्त प्रभार से मुक्त किया गया है।

डीसीपी आरपी बारोट बने महिसागर के पुलिस अधीक्षक

सूरत शहर जोन-2 के डीसीपी बीआर पंडोर को जूनागढ़ के पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज का प्रिंसिपल नियुक्त किया गया है। इसके अलावा एसआरपी ट्रेनिंग सेंटर और चौकी का अतिरिक्त पदभार सौंप गया है। इनकी जगह अहमदाबाद वेस्टर्न रेलवे के पुलिस अधीक्षक बीआर पटेल लेंगे। जोन-1 के डीसीपी आरपी बारोट को महिसागर का पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। इनकी जगह हेड क्वार्टर के डीसीपी साजन सिंह लेंगे। स्पेशल ब्रांच के डीसीपी चिंतन तेरैया अब सीएम और वीआईपी सिक्योरिटी अधीक्षक होंगे। उनकी जगह नाडियाड के एसआरपीएफ जीआर-7 के कमांडेंट जसु देसाई लेंगे। सूरत रूरल पुलिस अधीक्षक एएम मुनिया अहमदाबाद जोन-4 के डीसीपी होंगे। उनकी जगह महिसागर के पुलिस अधीक्षक उषा राणा को नियुक्त किया गया है।

सीधी बात

नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर अजय तोमर सोमवार को चार्ज संभालेंगे। अजय तोमर ने कानून- व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सख्त कार्रवाई करने और अच्छे नागरिकों का सहयोग करने का विश्वास दिलाया है। ऑर्गनाइज क्राइम किसी भी परिस्थितियों में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ऑनलाइन ठगी को रोकने का प्रयास करेंगे।

भास्कर के साथ नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर अजय तोमर का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

सवाल: कोरोना की मौजूदा परिस्थिति में जनता और पुलिस के बीच किस तरह काम करेंगे? जवाब: कोरोनाकाल में लोग डिसिप्लिन में रहें, यह सभी की जिम्मेदारी है। पुलिस की भी यही जिम्मेदारी है। पुलिस की ओर से हम लोगों को समझाएंगे और उस पर अमल कराने का प्रयास करेंगे।

सवाल: प्रदेश की आर्थिक राजधानी सूरत में लॉ एंड ऑर्डर के लिए क्या प्लानिंग होगी? जवाब: अपराधी के साथ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। अपराध रोकेंगे और अच्छे नागरिकों के साथ अच्छा बर्ताव और उसका पूरा सहयोग करेंगे।

सवाल: पूर्व में सूरत में कई गैंगेस्टर द्वारा फिरौती, रंगदारी और धमकी के केस हुए हैं, ऑर्गनाइज क्राइम को काबू में रखने के लिए किस प्रकार की रणनीति रहेगी? जवाब: पहले सभी परिस्थतियों का अच्छी तरह अध्ययन करेंगे। ऑर्गनाइज क्राइम किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पूरी ताकत से उसे मिटाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

सवाल: यंग जेनरेशन नशीले पदार्थों का सेवन कर रही है, पहले भी एमडी और गांजे को लेकर पुलिस ने केस किए है? बावजूद इसके नशीले पदार्थों की तस्करी फिर शुरू हो गई है, इसे किस तरह से रोकेंगे? जवाब: कानून बहुत सख्त है। नशीले पदार्थों पर नियंत्रण के कानून का अमल पूरी निष्ठा का साथ किया जाएगा। नशीले पदार्थों का कारोबार करने वालों के साथ पुलिस सख्ती बरतेगी और इसकी चेन को तोड़ने का पूरा प्रयास करेगी। सवाल: कोरोना महामारी के बीच गणेश विसर्जन घर में करने की बात की जा रही है, आप इसके लिए कोई नया नियम बनाएंगे? जवाब: इस मुद्दे पर राज्य सरकार और जिला प्रशासन नया नियम बनाएगी। मैं भी इस मुद्दे पर अध्ययन करुंगा। लोगों के स्वास्थ्य और जान की रक्षा के लिए योग्य निर्णय लिया जाएगा और उस पर कड़ाई से अमल भी कराया जाएगा। सवाल: शहर में सूदखोरों द्वारा परेशान किए जाने के कारण कई लोग आत्महत्या कर रहे हैं। ऐसी घटनाएं न हों इसके लिए सूदखोरों के खिलाफ क्या कार्रवाई करेंगे? जवाब: किसी भी प्रकार की आपराधिक प्रवृत्ति की जांच के बाद ही उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस प्रकार की प्रवृत्ति के लिए सख्त कानून की व्यवस्था है। लोगों की सुरक्षा के साथ सूदखोरों पर कड़ी कार्रवाई करेंगे।