नई दिल्ली | देश में जारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कहर के बीच देश में मेडिकल ऑक्सीजन सहित कई दवाओं, उपकरणों की जरूरत बढ़ गई है। संकट की इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार को मदद देने के लिए भारतीय वायुसेना ने मोर्चा संभाला है और ऑक्सीजन कंटेनर, सिलिंडर, जरूरी दवाओं, उपकरणों और स्वास्थ्यकर्मियों तक को एयरलिफ्ट कर रहा है। IAF ने दिल्ली में डीआरडीओ के बनाए कोविड-19 अस्पताल में कोच्चि, मुंबई, विशाखापत्तनम और बेंगलुरु तक से नर्सिंग स्टाफ को एयरलिफ्ट कर पहुंचाया है।  ने DRDO के ऑक्सीजन कंटेनरों को भी बेंगलुरु से दिल्ली के कोविड सेंटरों तक पहुंचाया है। भारतीय वायुसेना ने ट्विटर पर लिखा है, 'IAF की ट्रांसपोर्ट फ्लीट कोरोना के खिलाफ लड़ाई में साथ है। देशभर में कोविड अस्पतालों तक मेडिकल कर्मी, जरूरी उपकरण और दवाओं को एयरलिफ्ट करना जारी है।'

डीआरडीओ भी कर रहा हर संभव मदद
बता दें कि डीआरडीओ चेयरमैन जी सतीश रेड्डी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को इस बारे में सूचित किया है कि अभी तक दिल्ली में 250 बिस्तरों की क्षमता वाला कोविड केयर केंद्र बनाया गया है। इसकी क्षमता को बढ़ाकर 500 बिस्तर तक करने की कोशिश जारी है। इसके अलावा पटना के ESIC अस्पताल में 500 बिस्तर के साथ संचालन शुरू हो गया है। लखनऊ में 450 और वाराणसी में 750 बेडों की क्षमता वाला अस्पताल बनाने का काम जारी है। इसके साथ ही अहमदाबाद में भी डीआरडीओ 900 बिस्तरों वाला कोविड अस्पताल बनाने में जुटा हुआ है।