• पेट्रोल पंप मालिक निखिल गुप्ता की लूट के बाद हत्या मामले में नागौर पुलिस द्वारा 4 बदमाशों को गिरफ्तार किया गया
  • चारों आरोपी इनोवा कार से नागौर के लुणसरा से डीडवाना की और जा रहे थे, तभी पुलिस ने गिरफ्तार किया

जयपुर में पेट्रोल पंप मालिक निखिल गुप्ता की सोमवार को लूट के बाद हत्या मामले में नागौर पुलिस ने 4 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। चारों नागौर के लुणसरा से डीडवाना की ओर इनोवा कार में जा रहे थे। पकड़े गए आरोपियों के नाम चेतन सिंह, गौतम सिंह, अभय सिंह और पवन सिंह हैं। नागौर पुलिस ने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने पहले तो बातों में उलझाना चाहा। बाद में सख्ती से पूछताछ की तो आरोपियों ने स्वीकार लिया कि वे लूट करके आए हैं।

आरोपियों से तीन लाख रुपए और एक इनोवा कार जब्त की है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि निखिल गुप्ता की हत्या के बाद जयपुर से करीब 13 किलोमीटर दूर गोकुलपुरा में लूट के रुपए का बंटवारा किया। वहीं से गाड़ी किराए पर लेकर निकल गए। जहां से पहले गौतम सिंह के गांव लूणसरा पहुंचे। वहां पीपी चौधरी नाम के युवक को एक लाख रुपए और देसी कट्टा देकर डीडवाना की तरफ जा रहे थे। इस दौरान पकड़ लिए गए।

कोरोना पॉजिटिव से निगेटिव होने के बाद पहली बार घर से बाहर निकला था मृतक निखिल

पुलिस की अब तक की जांच में यह बात सामने आई है कि पेट्रोल पंप मालिक निखिल गुप्ता कुछ दिनों पहले कोरोना पॉजिटिव हुए थे। इसके बाद वह घर से बाहर नहीं निकले थे। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वह सोमवार को पहली बार घर से बाहर निकले थे। ऐसे में पुलिस मान रही है कि बदमाशों को पता था कि निखिल गुप्ता पहली बार घर से बाहर निकल रहे हैं। साथ ही उनके पास बैग में रुपए हैं। बदमाशों ने पहले रैकी की है। इसमें किसी परिचित का हाथ भी होने की पूरी आशंका है। क्योंकि पेट्रोल पंप के कलेक्शन की राशि निखिल कभी खुद जमा कराने जाते थे तो कभी बैंक से ही स्टाफ पेट्रोल पंप पर राशि लेने पहुंच जाता था। बदमाशों को इस बात का पता था कि निखिल सोमवार को रुपए जमा करवाने बैंक में जाएंगे।

अपार्टमेंट की पार्किंग में ही बदमाशों ने मारी थी गोली
निखिल गुप्ता ने रोड नंबर-12 पर पेट्रोल पंप कॉन्ट्रेक्ट पर लिया था। शनिवार और रविवार छुट्टी होने की वजह से निखिल बैंक में पंप का कलेक्शन जमा नहीं करवा पाए थे। सोमवार सुबह दो दिन के कलेक्शन का पैसा लेकर वह बैंक में जमा करवाने के लिए कार से एयू अपार्टमेंट पहुंचे थे। इस अपार्टमेंट में तीन-चार बैंक हैं। इनमें से एक बैंक में निखिल को रुपए जमा करवाने थे। अपार्टमेंट की पार्किंग में निखिल ने अपनी गाड़ी खड़ी की। इसके बाद जैसे ही कार से बाहर आए, बाइक सवार तीन चार बदमाशों ने उसे पकड़ लिया। जिन्होंने उसके हाथ में रखा रुपए से भरा बैग लूट लिया।

कंधे में लगी थी गोली

बीच-बचाव के दौरान एक बदमाश ने निखिल के कंधे की तरफ गोली मार दी। इसके बाद बदमाश बाइक से मौके से भाग गए।। निखिल लहूलुहान हालत में वहीं पर गिर गए। फायरिंग की आवास सुनकर सिक्योरिटी गार्ड और अन्य लोग मौके पर पहुंचे। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद निखिल को एक निजी हॉस्पिटल पहुंचाया गया। जहां उसकी मौत हो गई।