• कोरबा और रायगढ़ जिले में भी दर्ज हैं मामले

17 अगस्त को मैरिज गार्डन के पास से बच्ची का अपहरण करने वाला आरोपी पुलिस की पूछताछ में सीरियल रेपिस्ट निकला। वह 14 साल से कम उम्र की नाबालिगों काे ही अपना शिकार बनाता था और दुष्कर्म करने के बाद उन्हें छोड़कर फरार हो जाता था। एक मामले में वह 5 साल की सजा काट चुका है। पत्थलगांव एसडीओपी योगेश देवांगन ने बताया कि 17 अगस्त को मैरिज गार्डन के पास से बच्ची का अपहरण हाे गया था। उसे ढूंढने के लिए पुलिस की 4 टीमें बनाई थी। टीम बारीकी से मामले में काम कर रही थी, क्योंकि दो महीने पहले ही 4 साल की मासूम का अपहरण हो चुका है। उसका अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। 17 अगस्त को नाबालिग के लापता होने के बाद तत्काल नाकेबंदी की गई। पुलिस की चौतरफा घेराबंदी की भनक लगने के बाद आरोपी बच्ची को छोड़कर फरार हो गया था। इसके बाद पुलिस ने बच्ची को तो बरामद कर लिया था। बच्ची के मिलने के बाद पुलिस टीम आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए जंगल में सर्चिंग करते हुए रायगढ़ जिले के लैलूंगा पहुंची, जहां से बुलकीडीह में आरोपी लक्ष्मण पन्ना को गिरफ्तार किया गया। एसडीओपी देवांगन ने बताया कि इस दौरान उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म भी किया था। आरोपी सीरियल रेपिस्ट है, जिसके खिलाफ इसी तरह का यह छठा मामला है, जो सिर्फ नाबालिग लड़कियों को ही अपना शिकार बनाता है और उनके साथ दुष्कर्म कर उन्हें छोड़कर फरार हो जाता है।

आरोपी ट्रक और साइकिल चला सकता है लेकिन बाइक नहीं
सीरियल रैप के मामले में गिरफ्तार आरोपी घटना को अंजाम देने के लिए 14 साल से कम उम्र की बच्चियों को ही अपना शिकार बनाता था। अपहरण करने में वह साइकिल का उपयोग करता है। बताया जाता है कि उसे साइकिल के अलावा ट्रक भी चलाना आता है लेकिन उसे बाइक चलानी नहीं आती है।

2004 में दर्ज हुआ था पहला मामला
आरोपी लक्ष्मण पन्ना आदतन दुष्कर्मी है, जो नाबालिगों को प्रलोभन में लेकर उन्हें उठाकर ले जाता है और घटना को अंजाम देता था। पहली घटना 2004 में कुसमुंडा से नाबालिग को उठाकर झारसुगड़ा ओडिशा ले गया एवं दुष्कर्म करने के बाद छोड़कर फरार हो गया। मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था। इसमें उसे 5 साल की सजा भी हो चुकी है। दूसरी घटना 2004 कर्राजोर लैलूंगा में नाबालिग को उठाकर लाया और पत्थलगांव में एक महीने रखकर गलत काम किया। इसमें भी उसे 5 साल की सजा हुई थी। तीसरा मामला 2017 में रायगढ़ जिले के कुडेकेला से नाबालिग को उठाकर ट्रेन से अनूपपुर एमपी ले गया, जहां उससे दुष्कर्म किया और तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में छोड़कर भाग गया था। चौथा मामला 2017 में रायगढ़ से नाबालिग को ट्रेन में बैठाकर ओडिशा टिटलागढ़ ले गया, जहां ट्रेन में ही गलत काम करते पकड़ा गया। उक्त मामले में वह ट्रेन से ही फरार हो गया था। मामले में रायगढ़ सिटी कोतवाली में जुर्म दर्ज है और वहां से फरार चल रहा है। पांचवां मामला 2019 में पूंजीपथरा की नाबालिग को भगाकर जांजगीर ले गया है और वहां उससे दुष्कर्म किया। छठवें मामले में पत्थलगांव मैरिज गार्डन से बच्ची को बहलाकर ले गया, जिसके साथ गलत काम किया था। इस मामले में आरोपी लक्ष्मण पन्ना पत्थलगांव पुलिस के हत्थे चढ़ गया और सभी मामले खुल गए।

पूर्व एसपी ने मामलों का किया खुलासा
17 अगस्त को पत्थलगांव से बच्ची के लापता होने के मामले को एसपी बालाजी राव ने गंभीरता से लिया और बच्ची को बरामद करते हुए आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी होने के बाद आरोपी की फोटो भी वायरल हो गई थी। फोटो वायरल होने के बाद रायगढ़ के पूर्व एसपी राजेश अग्रवाल ने आरोपी की फोटो देखी तो जशपुर एसपी से चर्चा करते हुए बताया था कि आरोपी द्वारा पूर्व में भी इस तरह की घटना रायगढ़ जिले में अंजाम दिया गया है। रायगढ़ के पूर्व एसपी से चर्चा करने के बाद एसपी बालाजी राव ने आरोपी की पूरी जानकारी एकत्र करने का निर्देश पत्थलगांव पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी के संबंध में पूरी जानकारी जुटाई तो आरोपी सीरियल रैपिस्ट निकला।