सीबीएसई ने कक्षा 9वीं और 12वीं के लिए सिलेबस में 30 प्रतिशत की कटौती कर दी है. वहीं अब इसके बाद हरियाणा सरकार ने वर्तमान शैक्षणिक सत्र में कक्षा 9वीं से 12वीं के सिलेबस को करने का निर्णय लिया है. यह कदम कोविड -19 महामारी के कारण छात्रों को होने वाली भारी शैक्षणिक हानि से उबरने के उपाय के रूप में उठाया गया है.
कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...
शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा, "सरकार ने स्कूल शिक्षा बोर्ड को आदेश दिया है कि वह इस पर मिलकर काम करें. सरकार का मानना ​​है कि मौजूदा कोविड -19 की स्थिति को देखते हुए, छात्रों को किसी भी तरह के बोझ या मानसिक दबाव को महसूस नहीं करना चाहिए.''
देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें
मंत्री ने कहा कि कोरोनो वायरस लॉकडाउन के दौरान राज्य भर में स्कूल बंद रहेंगे, जिसके कारण नियमित कक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकती. उन्होंने कहा कि पहले से ही ऑनलाइन पढ़ाए जाने वाले विषयों को भी सिलेबस में शामिल किया जाना चाहिए.
बता दें, गुजरात सरकार ने बुधवार को गुजरात माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (GSHSEB) को निर्देश दिया किया है कि वह भी कक्षा 9वीं से 12वीं तक के सिलेबस में कटौती करें जैसा कि CBSE बोर्ड ने किया है.