नई दिल्ली। साल 2002 में अमेरिका की सेना आंतकी संगठन अलकायदा और तालिबान को समाप्त करने के लिए एक सीक्रेट ऑपरेशन चलाने की तैयारी की थी, अमेरिकी सेना का मकसद था वह छिपकर रह रहे आतंकियों को खोजकर मार दे। ये अफगानिस्तान के पहाड़ी इलाकों में मौजूद गुफाओं में छिपे हुए थे। तलाश करते हुए जब एक गुफा में अमेरिका की सेना पहुंची, वहां बेहद  अंधेरा था, लेकिन इस गुफा में पहुंचते ही अमेरिकी कमांडो लापता हो गए। कमांडो की बहुत तलाश की गई, लेकिन उनका कोई पता नहीं चला। फिर उन्होंने वहां एक महादानव जैसे शख्स को देखा। इसके बाद सैनिकों ने ताबड़तोड़ गोलीबारी कर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद बम धमाका कर गुफा को बंद कर दिया गया और राज दफन हो गया। आज भी इस गुफा की ओर कोई नहीं जाता है।