भोपाल। मध्यप्रदेश के इंदौर के परदेशीपुरा इलाके में एक्सिस बैंक से 5 लाख रुपए लूटने वाले बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस दोरान पुलिस ओर बदमाशो के बीच गोलिया भी चली,  इस मुठभेड़ में दो बदमाशों के पैरों में गोली लगी है। एक दीवार कूदकर भागते वक्त घायल हो गया। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 3 लाख 10 हजार रुपए और 2 पिस्टल बरामद की हैं। इस दोरान 5 पुलिस कर्मी भी जख्मी हुए हैं। गोरतलब है कि बीती 10 जुलाई को चार बदमाश बैंक से 5 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए थे। बदमाशों ने एक मिनट में वारदात को अंजाम दिया था। पूरी घटना बैंक में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई थी। इंदौर पुलिस अधिकारियो ने जानकारी देते हुए बताया कि इन दिना शहर में लूट की दो सनसनीखेज वारदातें हुई थी, जिसमें एक में 8 जुलाई को अन्नपूर्णा थाना क्षेत्र अंतर्गत उषा नगर में लुटेरों ने घर की महिलाओं को बंधक बनाकर सोने चांदी के जेवरात लूट लिए थे, और दूसरी घटना में 10 जुलाई को दोपहर के समय परदेशीपुरा थाना इलाके के अंतर्गत एक्सिस बैंक में चार हथियारबंद बदमाशों ने बैंक कर्मियों को गन प्वाइंट पर लेकर पांच लाख 35 हजार की लूट की घटना को अंजाम दिया था। दोनों ही सनसनीखेज घटनाओ को लेकर आईजी इंदौर जोन विवेक शर्मा एवं डीआईजी इंदौर (शहर) हरिनारायण चारी मिश्र खुद मैदान में उतर आये ओर थाना एवं क्राइम ब्रांच की 50 से अधिक टीमों को छानबीन मे लगाया। अज्ञात बदमाशो की सुरागशी मे जुटी पुलिस टीम ने बैंक लूट की घटना की पडताल के दौरान पहले बैंक के गार्ड से पूछताछ की जिसमें उसने पहले तो पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया लेकिन जब उसके ब्यानो में विरोधाभास पाया गया तो उससे सख्ती से पूछताछ की गई, जिसमें वह टूट गया और उसने बताया कि उसने अपने चार अन्य साथियों शुभम पिता शिवाजी कोर्डे उम्र 24 साल निवासी नई जीवन की फेल, शुभम पिता राजू वर्मा उम्र 20 साल निवासी सरोज गांधीनगर,.अंकुर पिता नरेंद्र चोकसे उम्र 30 साल निवासी आदर्श बिजासन नगर परदेसीपुरा ओर रोहित यादव निवासी बाल्मीकि नगर इंदौर के साथ मिलकर घटना को बैक डकैती को अंजाम दिया था। जिसके बाद पुलिस टीमों को इन चारों बदमाशों की तलाश में लगाया गया। आरोपी गार्ड ओर मुखबिर तथा टेक्निकल स्टाफ की सूचना के आधार पर पुलिस ने इन आरोपियों की घेराबंदी शुरू की। सर्च के दौरान सुपर कॉरिडोर ब्रिज के नीचे रविवार तड़के करीब रात 3 बजे एरोड्रम थाना पुलिस गश्त पर थी। यहां सुपर कॉरिडोर ब्रिज के समीप बैंक लूट के आरोपी पैसों का बंटवारा कर रहे थे। पुलिस को देखते ही बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में 2 बदमाशों के पैर में गोली लगी। एक बदमाश दीवार कूदते वक्त गिर गया। तीनों बदमाशों को एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया। वही वारदात के बाद चौथा बदमाश रोहित यादव नि बाल्मीकि नगर जो शहर छोड़ कर भाग गया था, उसे पुलिस द्वारा शिवपुरी जिले से हिरासत में लिया गया। अफसरो ने आगे बताया कि उषा नगर क्षेत्र मे हुई लूट की घटना में गिरफ्तार किये गये आरोपियो मे शामिल पप्पू पिता कन्हैयालाल जाटव उम्र 40 साल निवासी वालदा कॉलोनी महू नाका इंदौर मास्टरमांईड था, जिसने अपने सगे भांजे के साथ मिलकर फरियादी के घर की रेकी की थी। वही अन्य आरोपियो मे बंटी पिता राधेश्याम उम्र 35 साल निवासी 15 वालदा कॉलोनी इंदौर,.सोनू उर्फ अभय पिता जितेंद्र तिवारी उम्र 25 साल निवासी स्कीम नंबर 103 तेजपुर गड़बड़ी इंदौर,.शुभम पिता मनोहर शर्मा उम्र 25 साल निवासी विश्वकर्मा नगर इंदौर , राहुल पिता नगजीराम केवट उम्र 21 साल निवासी ग्राम कायस्थ खेड़ी सांवेर जिला इंदौर, .गोपी पिता रमेश पारसनिया उम्र 27 साल निवासी ग्राम कायस्थ खेड़ी सांवेर जिला इंदौ, तरुण उर्फ राहुल पिता भगवान सिंह उम्र 29 साल निवासी राजनगर सेक्टर ए इंदौर, राजेश उर्फ नेपाली पिता कैलाश शिंदे उम्र 48 साल निवासी 57 राज नगर इंदौर ओर गोविंद ठाकुर पिता मान सिंह ठाकुर उम्र 38 साल निवासी ग्राम मंडोरी जिला टीकमगढ़ शामिल थे, जिन्हे दबोचा लिया गया है। वही इस पूरी कार्रवाई में पुलिस टीम के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शशिकांत कनकने, नगर पुलिस अधीक्षक परदेसीपुरा निहित उपाध्याय, थाना प्रभारी परदेसीपुरा राहुल शर्मा एवं थाना प्रभारी बाणगंगा राजेन्द्र सोनी और आरक्षक मुकेश सिंह भी घायल हुए हैं। पुलिस ने आरोपियों के पास से 3 लाख 10 हजार नगद एवं दो पिस्टल बरामद की हैं।