घर पर मनी प्लांट रखने के हर किसी के अपने विचार है. कुछ लोग कहते है कि पैसों में बरक्त होती है तो कुछ लोग कहते है नौकरी में लाभ होते है. तो बता दें कि मनी प्लांट को हमेशा वास्तु शास्त्र के हिसाब से रखना चाहिए. ताकी घर पर हमेशा साकारात्मकता बनी रहती है और दोष दूर रहते है. तो चलिए जानते है इससे जुड़ी कुछ खास बाते.

कहा जाता है कि मनी प्लांट जितना हरा-भरा होता है, उतना शुभ रहता हैं. अगर इसके पत्ते सुखे होना और पीले होना या सफेद हो जाना अशुभ माना जाता है. अगर ऐसा हो रहा है तो पत्तों का तुंरक हटा देना चाहिए. बता दें कि मनी प्लांट एक बेल है, इसलिए इसे ऊपर की ओर चढ़ाना चाहिए. अगर इसकी बेल नीचे यानी जमीन की तरफ फैल या बढ़ रहा है तो यह वास्तु दोष बढ़ता है.
घर में मनी प्लांट के पौधे को लगाने के लिए आग्नेय कोण यानी की दक्षिण-पूर्व सबसे अच्छी दिशा मानी जाती है. कहते है इस दिशा में ये पौधा लगाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बढती है. दक्षिण-पूर्व दिशा में मनी प्लांट लगाने का कारण ये है कि इस दिशा का कारक ग्रह शुक्र है. वहीं शुक्र ग्रह बेल और लता वाले पौधों का भी कारक है. मनी प्लांट लगाना शुक्र की दिशा में ज्यादा शुभ रहता है.

उत्तर-पूर्व दिशा यानी ईशान कोण में मनी प्लांट को नहीं रखना चाहिए. बता दें कि ईशान कोण बृहस्पति ग्रह है. शुक्र और बृहस्पति, दोनों एक दूसरे के शत्रु हैं. इसी कारण ईशान कोण में शुक्र ग्रह का पौधा नहीं लगाना चाहिए. मनी प्लांट ऐसी जगह लगाना चाहिए, जहां अधिक धूप ना आती हो. इसे आप घर पर भी रख सकते है. पानी में मनी प्लांट को रखना ज्यादा अच्छा होता है. बस इसका पानी हर सप्ताह बदल लेना चाहिए.