इन्दौर । जीवन एक सतत् दौड़ है। जीतने का मूलमंत्र एक ही है - "जीवटता के साथ जितने लंबे समय तक इस दौड़ में बने रहेंगे, उतना आगे तक जाएंगे"। कोरोना से जंग की इस वर्तमान दौड़ में भी यही मूलमंत्र लागू होता है। इसको दृष्टिगत रखते हुए एकेडमी ऑफ इन्दौर मेराथनर्स (एम) जो कि एक पारमार्थिक न्यास है और विगत 7 वर्षों से मध्य भारत में हेल्थ और फ़िटनेस के लिए कार्यरत है, ने 11 लाख रू. का अनुदान गुरूजी सेवा न्यास द्वारा स्थापित किये जा रहे 'माधव सृष्टि केंद्र कोविड वेलनेस सेंटर' के लिए दिए हैं।
एम के अध्यक्ष डॉ. अरुण अग्रवाल ने बताया कि हमारी संस्था ने मुख्य संरक्षक कैलाश विजयवर्गीय के नेतृत्व में हेल्थ और फिटनेस के लिए अलख जगाया हुआ है और 7 वर्षों से लगातार हाफ मैराथन, 10 व 5 कि.मी. की दौड़ का आयोजन करता आ रहा है। पिछले वर्ष 42 कि.मी. की फूल मैराथन भी की जा चुकी है। एक नॉन प्रॉफिट संस्था के रूप में एम आम जनता के लिए इन्दौर शहर में पांच अलग-अलग स्थानों पर निशुल्क रनर्स ट्रेनिंग कैम्प का संचालन करती है। यह कैम्प पूरे वर्ष चलते हैं जिसमें प्रोफेशनल ट्रेनर के द्वारा ट्रेनिंग दी जाती है। यह कैम्प सभी के लिए निशुल्क खुला है। प्रत्येक कैम्प में लगभग दो सौ रनर्स जुड़े हुए हैं। यह कैम्प उज्जैन, महू और देवास में भी संचालित है। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि कोविड से वर्तमान में जंग अत्यंत संघर्षशील है। सभी को हाथ से हाथ मिलाते हुए साधनों को जुटाते हुए और एक जुट होकर जीवन की दौड़ को आगे तक ले जाना होगा। एम ने इसी उद्देश्य से रनर्स कम्युनिटी और उससे जुड़े अनेक सहभागी, शुभचिंतक के ज़रिए फण्ड एकत्रित किया। इन शुभचिंतकों में कुछ अनिवासी भारतीयों द्वारा भी दान की गई है। कुल 18 लाख रू. की राशि अब तक इस प्रकार एकत्रित हुई। एम ने स्वयं के फंड में से 5 लाख की राशि इस हेतु अनुमोदित की। इस प्रकार कुल राशि 23 लाख में से 11 लाख रुपये माँ अहिल्या कोविड वेलनेस सेंटर जो कि राधा स्वामी सत्संग न्यास के परिसर में संचालित है को दी गई, एक लाख रुपये की राशि भोजन व्यवस्था हेतु सदाचार समिति को दी गई और आज पुनः ग्यारह लाख की राशि गुरुजी सेवा न्यास के माधव स्रष्टि केंद्र को दी गई। एम एक पारमार्थिक न्यास है जो कि आयकर विभाग में पंजीकृत है और दानदाताओं को एम की किये गए दान पर आयकर की छूट की पात्रता है। कंपनियों के द्वारा भी उनके सीएसआर फंड में से एम को अनुदान प्राप्त हो रहा है जिसे कोविड संबंधित उपचार कार्य में लगाया जा रहा है। आगे भी जैसे जैसे फण्ड एकत्रित होगा, एम के द्वारा यथोचित राशि कोविड की इस महामारी से लड़ने के लिए सहयोग के रूप में दी जाएगी। एम के सचिव विशाल मुदगल ने बताया कि एम की विशेषता यह है कि यह एक अट्ठाइस सदस्यों की संस्था है जो कि सभी रनर्स है और विभिन्न कार्यक्षेत्र से है जैसे डॉक्टर्स, इंजिनीर्स, चार्टर्ड अकाउंटेंट, एडवोकेट, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, बिजनेसमैन।