मथुरा । जिले में एक युवती ने अपने होने वाले ससुरालवालों की आए दिन बढ़ती दहेज की मांगों और उससे घर वालों को परेशान देख आत्महत्या कर ली। युवती ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है जिसमें उसने समाज से दहेज की कुप्रथा को समाप्त करने की अपील की है। 
प्राप्त विवरण के मुताबिक यह मामला थाना हाईवे क्षेत्र के नवादा गांव का है। जहां के निवासी मूलचंद्र ने अपनी 22 वर्षीय पुत्री अनीता की शादी सिहाना गांव निवासी हेमंत के साथ तय की थी। हेमंत उत्तर प्रदेश पुलिस में सिपाही है। उन्होंने यह संबंध 12 लाख रुपए में तय किया था, लेकिन यह मांग 12 से 18 लाख रुपए पर पहुंच गई। लड़की वालों ने इतना दहेज देने में असमर्थता जताते हुए संबंध करने से इंकार कर दिया, जिसके बाद ससुराल पक्ष के लोग तय बातचीत कर शादी करने को राजी हो गए और गतवर्ष 16 सितम्बर को दोनों के बीच एक रस्म भी कर दी गई। विवाह इस वर्ष गर्मियों में होना था लेकिन लड़के वाले फिर से दहेज की रकम बढ़ाने की मांग करने लगे। 
लड़के वालों की बार-बार बढ़ती हुई मांग से लड़की वाले परेशान हो उठे और यह बात जब अनीता को पता चली तो उसने 25-26 दिसम्बर की रात को तेजाब पीकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। पुलिस को युवती के शव के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है। युवती के पिता मूलचन्द ने लड़के हेमंत और उसके माता पिता के विरुद्ध मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।