नई दिल्‍ली । राज्य सभा सचिवालय के एक अधिकारी में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के बाद बिल्डिंग का एक हिस्सा सील कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, गत गुरुवार को एक वरिष्ठ अधिकारी के कोरोना से संक्रमित होने की सूचना मिली, जिसके बाद शुक्रवार को सचिवालय के दो फ्लोर्स को सील किया गया है।

बता दें कि संसदीय परिसर में कोविड‑19 संक्रमण का यह चौथा मामला है। चार में से तीन लोगों को तीन मई को संसद का कामकाज पुन: आरंभ होने के बाद संक्रमण हुआ और वे काम पर आए थे। सूत्रों ने बताया कि निदेशक स्तर का अधिकारी और उसके परिवार के सदस्य संक्रमित पाए गए हैं। अधिकारी 28 मई को काम पर आया था।

इससे पहले उर्जा मंत्रालय, रेल भवन, नीति आयोग सहित कुछ और अहम सरकारी कार्यालयों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। बता दें कि भारत में लॉकडाउन का ये चौथा चरण है जिसकी समय सीमा 31 मई को खत्म हो रही है। देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है। हालांकि, इसके बावजूद संक्रमण के मामले भारत में बढ़ते जा रहे हैं। चौथे चरण में कुछ छूट के बाद इसमें और तेजी आई है। भारत में पिछले एक हफ्ते से रोज 6000 नए मामले सामने आ रहे हैं। शुक्रवार सुबह आई रिपोर्ट में इसमें और बढ़त देखी गई। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार जारी अपडेट के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना से 175 लोगों की जान गई है। ये आंकड़े गुरुवार सुबह से आज सुबह तक के हैं।

देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 4707 हो गई है। वहीं, कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 165799 हो गई है। देश में कोरोना से अब तक 71106 मरीज ठीक हुए हैं जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या 89987 है। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 7466 नए मामले आए हैं। ये भारत में कोरोना संक्रमण का अब तक का सबसे बड़ा उछाल है।