भोपाल। राजधानी में 42 दिन बाद एक बार फिर चहल पहल से भरी रहने वाली शहर भर की सडके पूरी तरह से सुनसान नजर आई। सभी सडको पर पर पुलिस के अलावा इक्का दुक्का लोग ही नजर आ रहे थे। लॉक डाउन का कढ़ाई से पालन कराने पुलिस द्वारा बेवजह घूमने वालों के खिलाफ कार्यवाही की गई। लॉकडाउन को लेकर रविवार को शहर में 200 से अधिक चेकिंग पाइंट बनाए गए, जहां थाना पुलिस, एसएएफ  और यातायात थाने का बल तैनात किया गया था। रविवार की शाम तक करीब सौ से अधिक लोगों के खिलाफ चालानी व लॉकडाउन तोडऩे संबंधी कार्रवाई की गई। अधिकारियो ने बताया कि रविवार को भोपाल में करीब 2,800 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई। सुबह पांच बजे से ही सभी पुलिस पाइंट पर पुलिसकर्मियों को मुस्तैदी ड्यूटी पर लगा दिया गया था। पुलिसकर्मियों को उचित दिशा निर्देश दिए गए हैं कि अनावश्यक घूमने वालों के खिलाफ  सख्त कार्रवाई करें। जो व्यक्ति मोटर व्हीकल का उल्लंघन करते पाए जाये उनके खिलाफ  चालानी कार्रवाई और जो लॉकडाउन संबंधी नियमों का उल्लंघन करते हुए पाये जाये उनके खिलाफ 188 की कार्रवाई की जाए। हालांकि इस दोरान दूध, दवाई और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को कोई रोक टोक नहीं की गई। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारियों द्वारा पहले ही यह निर्देश दिये गये थे की बीमारों को इलाज, उनके परिजनों को अस्पताल आने-जाने व किसी अन्य जरूरी कार्य के लिए घर से निकलने वाले लोगों से पूछताछ कर तस्दीक कर उन्हे जाने दिया जाये। ओर वही ऐसे लोगो जिनका किसी भी आवश्यक कार्य को लेकर घर से निकलना जरूरी है, तो उनके खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं की जाये। टोटल लॉकडाउन के दोरान सडको के साथ ही गलियों पर भी सन्नाटा पसरा नजर आया। किराने की दुकान से लेकर शराब दुकानों तक को बंद रखा गया। गौरतलब है कि अनलॉक-1 के बाद पहली बार प्रदेश में एक दिन के लिए कर्फ्यू लगाया गया है। इधर, राजधानी के सबसे बड़े हॉटस्पाट इब्राहिमगंज में रविवार से 7 दिन का टोटल लॉकडाउन शुरू कर दिया गया। प्रशासन के इस कदम को लेकर यहॉ रहने वाले परिवारो ने लॉकडाउन से  पहले ही जरूरत के सभी सामान अपने घरों में रख लिए थे। हालांकि, इस इलाके में नगर निगम की टीम जरूरत पड़ने पर जरूरत के सामान की सप्लाई करेगी। रविवार को लॉकडाउन के चलते अलसुबह से ही राजधानी में पुलिस और प्रशासन की टीमें मुस्तैद हो गईं। इस दोरान पुराने ओर नये शहर के कई प्रमुख रास्तो को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत देने के लिए मोबाइल वैन से अनाउंसमेंट कराया गया ओर पुलिस की पैट्रौलिंग लगातार जारी रही ।