ग्वालियर केन्द्रीय मंत्री बनने के बाद यह पहला मौका है जब ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी मां, पत्नी, बेटे सहित पूरे परिवार के साथ ग्वालियर आए हैं। मौका भी उनकी दादी और भाजपा की वरिष्ठ नेता राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जयंती का था। सुबह 8.30 बजे वह विशेष विमान से ग्वालियर पहुंचे। इसके बाद वह अम्मा महाराज की छत्री पर आए।

यहां पहले से ही उनके स्वागत के लिए प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा खड़े दिखाई दिए। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने सबसे पहले विजयाराजे सिंधिया के चित्र पर पुष्प अर्पित किए। इसके बाद वह अपने पूरे परिवार के साथ प्रांगण में आयोजित भजन कार्यक्रम में शामिल हुए हैं। काफी देर तक यहां बैठने के बाद वह जयविलास पैलेस के लिए रवाना हो गए हैं। दोपहर 12.20 बजे वह ग्वालियर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

मंगलवार (12 अक्टूबर) को भाजपा की आधारशिला रखने वाली वरिष्ठ नेता ओर केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की दादी विजयाराजे सिंधिया की जयंती है। इस मौके पर कटोराताल स्थित अम्मा महाराज की छत्री पर भजन कार्यक्रम आयोजित किया गया है। यहां आने वाले सभी रास्तों पर ट्रैफिक को डायवर्ट कर दिया गया है। दादी की जयंती समारोह और भजन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केन्द्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार सुबह 8.30 बजे दिल्ली से फ्लाइट के जरिए ग्वालियर पहुंचे हैं।

उनके केन्द्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार परिवार भी साथ ग्वालियर आया है। केन्द्रीय मंत्री के साथ उनकी मां माधवीराजे सिंधिया, पत्नी प्रियदर्शनी राजे, बेटा महाआर्यमान सिंधिया आए हैं। एयरपोर्ट से वह सीधे जयविलास पैलेस पहुंचे और वहां से 10 मिनट बाद ठीक 9 बजे कटोराताल स्थित छत्री पहुंचे हैं। यहां सबसे पहले विजयाराजे सिंधिया के चित्र पर पुष्प अपिर्त कर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद उनकी मूर्ति के चरण स्पर्श कर सपरिवार आशीर्वाद लिया। आशीर्वाद लेने के बाद वह भजन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान वह काफी गंभीर भाव में बैठे नजर आए। भजन कार्यक्रम मंे शामिल होने के बाद जयविलास पैलेसे के लिए रवाना हो गए हैं।

इस बार मास्क पहले थे अनूप मिश्रा

जब केन्द्रीय मंत्री सिंधिया कटोराताल अम्मा महाराज की छत्री पहुंचे तो उनकी आगवानी के लिए प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा व पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा के अलावा कई बड़े नेता नजर आए। पर यह दोनों इसलिए खास रहे कि यह लगातार उनके आने से लेकर भजन कार्यक्रम में उनके दोनों तरफ बैठे नजर आए हैं। एक समय था जब पूर्व मंत्री और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे अनूप मिश्रा सिंधिया के कड़े प्रतिद्वंदि माने जाते थे। पर बीते कुछ दो मुलाकातों में दोनों के बीच दूरियां कम हुई हैं। हां इस बार अनूप मिश्रा सिंधिया से मिलते समय मास्क पहने नजर आए। क्योंकि पिछली बार जब वह मिले थे तो मास्क नहीं पहने थे और सिंधिया ने अपना एक मास्क उतारकर उनको पहना दिया था। जो सोशल मीडिया पर काफी चर्चित हुआ था।

केन्द्रीय मंत्री, पत्नी को सहारा देते नजर आए

केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जब कटोराताल छत्री पर पहुंचे तो उनके साथ मां, बेटे के अलावा पत्नी प्रियदर्शनी राजे सिंधिया भी रहीं। पत्नी के पैर में चोट होने के कारण केन्द्रीय मंत्री सिंधिया छत्री पर आने से लेकर पुष्पांजलि अर्पित करने तक हाथ थामकर सहारा देते नजर आए।