नई दिल्ली । देश के सुदूर अंचलों में कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान में स्वास्थ्य कर्मियों ने अपनी कर्तव्यनिष्ठा की अद्भुत मिसाल पेश की जिसकी प्रशंसा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें ‘सलाम’ किया। प्रधानमंत्री ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया की ओर से किए एक ट्वीट का जवाब दे रहे थे जिसमें उन्होंने एक वीडियो साझा करते हुए लिखा कि विश्व का सबसे बड़ा एवं सबसे तेज टीकाकरण अभियान इन स्वास्थ्य कर्मियों के परिश्रम के कारण ही आज सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहा है जो दुर्गम क्षेत्रों में भी बड़ा जोखिम उठा कर टीका लगाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश को सुरक्षित करने में इनका योगदान सदैव याद रखा जाएगा। प्रधानमंत्री ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, ‘देश के हर नागरिक का टीकाकरण सुनिश्चित करने में लगे सभी हितधारकों की ओर से किए जा रहे शानदार प्रयासों का यह महज एक उदाहरण है। भारत में टीकाकरण अभियान को सफल बनाने में जुटे सभी लोगों को सलाम।’
जानकारी के लिए बता दें कि देश में शनिवार तक कोविड-रोधी टीके की 94.62 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि शनिवार शाम सात बजे तक टीके की 60,66,412 खुराक दी गईं और देर रात तक पूरे आंकड़े प्राप्त होने के बाद दैनिक टीकाकरण की इस संख्या में इजाफा हो सकता है। मंत्रालय ने कहा कि देश में सबसे संवेदनशील जनसंख्या समूहों को कोविड-19 से बचाने के एक जरिए के तौर पर टीकाकरण कवायद की नियमित रूप से समीक्षा और उच्चतम स्तर पर निगरानी की जा रही है। गौरतलब है कि देश में इस वर्ष 16 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों के टीकाकरण के साथ अभियान के पहले चरण की शुरुआत हुई थी। उसके बाद से प्राथमिकता के आधार पर पात्र लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है।