इस्लामाबाद । आतंकियों की को पनाह देने वाले पाकिस्तान को अब इसका खमियाजा भुगतना पड़ रहा है। यहां के उत्तर पश्चिमी प्रांत खैबर पख्तूनख्वा के उत्तरी वजीरिस्तान में आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के वाहन पर हमला किया। इसमें पांच सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई। पाक सेना के पीआर विभाग ने शनिवार रात एक बयान में कहा, मारे गए लोगों में 4 अर्धसैनिक बल फ्रंटियर कॉर्प्स और एक लेवीज के सदस्य गाड़ी में थे। बता दें कि यह वही इलाका है जहां तहरीक-ए-तालिबान (टीटीपी) के आतंकी सक्रिय हैं। इमरान खान उनके साथ बातचीत का दावा कर रहे हैं। माना जा रहा है कि टीटीपी ने दो दिन पहले अपने एक कमांडर की पाकिस्तानी सेना के हाथों हुई मौत का बदला लिया है।
सेना के पीआर विभाग ने कहा कि क्षेत्र से आतंकवादियों को खत्म करने के लिए सुरक्षा बलों का अभियान जारी है। आपको बता दें कि पाकिस्तान में हाल में खैबर पख्तूनख्वा और दक्षिण-पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत में सुरक्षा बलों पर आतंकवादी हमलों में वृद्धि हुई है। इस बीच टीटीपी ने ऐलान किया है कि उसने किसी तरह का सीजफायर घोषित नहीं किया है। इससे पहले पाकिस्‍तानी मीडिया ने दावा किया था कि टीटीपी ने संघर्ष विराम कर दिया है। आतंकी हमले के बाद पाकिस्‍तानी सुरक्षाकर्मी अ‍ब इलाके में तलाशी अभियान चला रहे हैं।  
इससे पहले, इमरान खान ने एक इंटरव्यू में कहा था कि पाकिस्तान सरकार की टीटीपी से सुलह को लेकर बातचीत चल रही है। इसमें तालिबान उनकी मदद कर रहा है। बता दें कि टीटीपी पाक-अफगान सीमा क्षेत्र में एक प्रतिबंधित आतंकी संगठन है। देखा जाए तो इमरान खान ने एक बार फिर से आतंकियों के सामने घुटने टेक दिए हैं। जबकि टीटीपी पर हजारों पाकिस्तानियों की जान लेने इल्जाम है। इस पर पाकिस्तान के विपक्षी पार्टियों ने उन्हें आड़े हाथों लिया है।