नई दिल्ली । उरी से पकड़े गए आतंकी अली बाबर ने भारतीय एजेंसियों की पूछताछ में बताया कि वह पाकिस्तान की आर्मी से ट्रेनिंग लेने के बाद बड़ा हमला करने के लिए कश्मीर आया था। इस आतंकवादी को मंगलवार को भारतीय सेना ने अपने शिकंजे में ले लिया था। उरी में पकड़े गए आतंकी अली बाबर का एक वीडियो सेना ने जारी किया है। इस वीडियो में आतंकी अली बाबर बता रहा है कि उसे पाकिस्तान ने कश्मीर में बड़े आतंकी हमले के लिए भेजा है। इस वीडियो में आतंकी ये भी बता रहा है कि उसे पाकिस्तान की सेना ने ट्रेनिंग दी है।
18 सितंबर को सेना ने एलओसी के उरी सेक्टर में आतंकियों की एक घुसपैठ को नाकाम किया था। पाकिस्तान से हुई इस घुसपैठ में 6 आतंकवादी शामिल थे। भारतीय सेना के जवानों ने उन्हें ललकारा तो 4 आतंकवादी वापस पाकिस्तान की सीमा में भाग गए। इसी दौरान दो आतंकी भारतीय सीमा में दाखिल हो गए। इन्हीं दोनों की तलाश में सेना ने एलओसी पर कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया था। 
25 सितंबर को भारतीय सेना ने इन दोनों आतंकियों को उरी के सलामाबाद नाले में घेर लिया। खुद को घिरता देख दोनों आतंकवादियों ने भारतीय सैनिकों पर गोलीबारी शुरू कर दी। फायरिंग में भारतीय सेना का एक जवान घायल हो गया। मुठभेड़ के दौरान भारतीय सेना ने 26 सितबंर की सुबह एक आतंकी को मार गिराया। इसके बाद अपने साथी की मौत से घबराए दूसरे आतंकवादी ने सेना के सामने सरेंडर की अपील की। जिसके बाद भारतीय सेना के ऑपरेशन बलवान का नेतृत्व कर रहे जाट रेजीमेंट के कैप्टन मुश्ताक ने आतंकी के सरेंडर के लिए मंजूर कर लिया।