छतरपुर के मजरा चरहीपुरवा में दिलदहलाने वाला मामला सामने आया है। 33 साल की महिला ने 4 साल के मासूम को पहले फंदे पर लटका दिया, इसके बाद खुद भी फांसी लगा ली। शुरुआती जांच में घटना की वजह घरेलू कलह सामने आई है। महिला के मायके वाले इसे हत्या बता रहे हैं। उनका आरोप है कि बेटी के शरीर पर चोट के निशान थे। घटना के समय पति घर में नहीं था।

चरही पुरवा गांव के रहने वाले ईश्वर प्रसाद उर्फ छुटटू राजपूत का पत्नी मीरा से अक्सर विवाद होता रहता था। गुरुवार को भी किसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा हुआ। गुस्से में ईश्वर बहन के गांव बिशनाखेरा चला गया। घर में मीरा और उसके दो बेटे थे। खाना खाने के बाद बड़ा बेटा राकेश रात में दादा के पास खेत पर बने मकान में सोने चला गया। घर पर मीरा और छोटा बेटा मूरत सिंह थे।

आशंका है, मीरा ने रात में मूरत को पहले फंदे पर लटका दिया। इसके बाद खुद भी फांसी लगा ली। शुक्रवार को जब मीरा का दरवाजा नहीं खुला, तो पड़ोसियों ने आवाज लगाई। जवाब नहीं मिलने पर शंका हुई। दरवाजा खटखटाया, लेकिन जवाब नहीं आने पर परिजनों को जानकारी दी। उनके आने के बाद दीवार फांदकर घर के भीतर गए। अंदर 4 साल का मूरत फंदे से झूल रहा था, जबकि मीरा के गले में रस्सी का फंदा था, वह घुटनों के बल जमीन पर बैठी पीछे चारपाई से टिकी थी।

8 साल पहले हुई थी शादी

ईश्वर की शादी 8 साल पहले हिरदेपुरवा गांव की मीरा राजपूत से हुई थी। ईश्वर किसानी करता है। लोगों का कहना है, दोनों के बीच किसी बात किसी बात को लेकर विवाद होता रहता था। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पिता का आरोप - सुसाइड नहीं, हत्या है

मीरा के पिता सरजू राजपूत का आरोप है, उनकी बेटी को पहले ससुरालवालों ने मारा। इसके बाद बच्चे को फंदे से लटका दिया। बेटी के शरीर में, पेट में चोट के निशान भी हैं। वहीं, मृतका के भाई लाल सिंह राजपूत ने कहा कि मामला संदिग्ध है। शंका है कि बहन को मारा गया है। इसके बाद उसे लटकाया है।

पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंपा

सूचना पर लवकुशनगर थाना प्रभारी संजय बेदिया पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। दोनों शवों को पीएम के लिए लवकुशनगर भेजा। इसके बाद दोनों के शव परिजन को सौंप दिए। थाना प्रभारी ने बताया, घटना के पीछे घरेलू विवाद हो सकता है। फिलहाल, परिजन से पूछताछ कर रहे हैं। पीएम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति और क्लियर हो सकेगी। पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. एसपी शाक्यवार ने बताया, महिला के मौत का कारण प्रथम दृष्टया फांसी लगना ही है। उसके शरीर में अन्य कोई चोट आदि के निशान भी नहीं मिले हैं।

पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही

एएसपी विक्रम सिंह का कहना है, घटना के बारे में प्रथम दृष्टया घरेलू विवाद होना सामने आया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। घटना के हर पहलू पर बारीकी से जांच की जा रही है।