भोपाल। राजधानी के शाहपुरा थाना इलाके मे स्थित मल्टी में रहने वाली 15 वर्षीय नाबालिग द्वारा बीती रात घर के बाथरूम में फांसी लगाकर खुदकुशी किये जाने की घटना सामने आई है। फिलहाल आत्महत्या के सही कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। मामले में पुलिस ने मर्ग कामय कर जांच शुरु कर दी है। पुलिस के अनुसार शीतल पिथलोदे पुत्री राजेश पिथलोदे (15) मल्टी नंबर एक शाहपुरा मे रहती थी, और घरो मे साफ सफाई का काम करती थी। उसके परिवार मे उसके पिता और के मां के अलावा पांच बहने हैं। बताया गया है कि किशोरी का पिता शराब का आदी ओर कोई काम नहीं करता है, फिलहाल वो शहर के बाहर गया हुआ है। मृतका की मां तथा अन्य तीन बहने भी बंगलों में काम करती हैं। पिता अक्सर बच्चों तथा पत्नी से शराब पीने के लिए पैसों की मांग को लेकर विवाद कर उनके साथ मारपीट करता था। परिजनों ने पुलिस को बताया कि उनका परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था, वहीं पिता द्वारा घर में कि जाने वाली मारपीट ओर झगडे ओर आर्थिक तंगी को लेकर शीतल मानसिक तनाव में रहती थी। अनुमान है, कि इसी तनाव के कारण उसने यह आत्मघाती कदम उठाया है। फिलहाल पुलिस मर्ग कायम कर अनेक बिंदुआ पर जांच कर रही है। उधर, गांधी नगर थाना इलाका स्थित शांति नगर में रहने वाले सुरेश कुमार पुत्र शंकरलाल (51) ने बीती 4 फरवरी को घर में जहरीला पदार्थ खा लिया था। उपचार के दौरान बीती रात उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में भी मर्ग कायम कर कारणो की जांच शुरु कर दी है।